Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल में लगातार बढ़ रहा कोरोना ग्राफ, फिर लग सकती है पाबंदी, जानें क्या बोले सीएम

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में प्रदेश सरकार (Himachal Government) ने 20 मार्च तक स्थिति देखने के बाद फिर से प्रदेश में सख्ती बरतने पर विचार कर रही है।

हिमाचल में लगातार बढ़ रहा कोरोना ग्राफ, फिर लग सकती है पावंदी, जानें क्या बोले सीएम
X

हिमाचल में लगातार बढ़ रहा कोरोना ग्राफ।

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में प्रदेश सरकार (Himachal Government) ने 20 मार्च तक स्थिति देखने के बाद फिर से प्रदेश में सख्ती बरतने पर विचार कर रही है। सूत्रों की मानें तो इसके अलावा हिमाचल में पॉलिटिकल (Political in Himachal) व अन्य समारोह (Political and other Ceremonies) पर भी रोक लगाई जा सकती है। यह संकेत खुद सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने पीएम नरेंद्र मोदी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित बैठक के बाद दिए हैं।

सीएम जयराम ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के मामले एक बार फिर बढ़ने लगे है जोकि चिंता का विषय है। इसके साथ ही पड़ोसी राज्य पंजाब (Punjab) में भी लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऊना के मेढ़ी मेले में आने वाली भीड़ पर नज़र रखने के निर्देश जारी किए गए हैं। वहीं प्रदेश में होने वाले मेलों में एसओपी का सख्ती से पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में फ़िर से बढ़ रहे कारोना मामलों के चलते सरकार 20 मार्च तक नज़र बनाने के बाद पाबंदियों पर विचार करेगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, देश में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सभी राज्यों के सीएम के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की है। जिसमें उन्होंने कोरोना वेक्सीनेशन को बढ़ाने गावों में टेस्टिंग को बढ़ाने और कोरोना टीकाकरण को गंभीरता से लेने को कहा हैं। वहीं पीएम मोदी ने दवाई भी और कड़ाई भी का प्रयोग करने को कहा है।

सीएम ने बताया कि पीएम मोदी ने बैठक में कोविड-19 वेक्सीनेशन व आरटीपीसीआर टेस्ट को बढ़ाने की बात कही है। माइक्रो कंटेंमेंट जॉन बनाने को कहा गया है। इसके अलावा कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग (Contact tracing) करने को भी कहा गया है, ताकि कोरोना संक्रमण (Corona infection) को बढ़ने से रोका जा सके। प्रदेश में होने वाले मेलों में एसओपी का पालन किया जाएगा।

Next Story