Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Him Suraksha Abhiyan: अब कोरोना टेस्ट करवाने से मना करने वालों की खैर नहीं, देना होगा इतने हजार का जुर्माना

Him Suraksha Abhiyan: हिमाचल प्रदेश में अब कोरोना टेस्ट करवाने से मना करने वालों की खैर नहीं है। अगर आपने कोविड-19 टेस्ट करवाने से मना किया तो आपके खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 के तहत मामला दर्ज करने के आदेश हैं।

Him Suraksha Abhiyan: अब कोरोना टेस्ट करवाने से मना वालों की खैर नहीं, ऐसा करने पर देना होगा आठ हजार का जुर्माना
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

Him Suraksha Abhiyan: हिमाचल प्रदेश में अब कोरोना टेस्ट करवाने से मना करने वालों की खैर नहीं है। अगर आपने कोविड-19 टेस्ट करवाने से मना किया तो आपके खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 के तहत मामला दर्ज करने के आदेश हैं। जिसमें आप पर पांच दिन की जेल की सजा और अधिकतम आठ हजार रुपये का जुर्माने देना होगा। आदेशों में यह साफ कहा गया है कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से एक्टिव केस फाइंडिंग और हिम सुरक्षा अभियान के तहत फ्लू (आईएलआई) के लक्षण पाए जाने वाले मरीजों के लिए सैंपलिंग अनिवार्य होगी।

पुलिस प्रशासन किसी भी नियम तोड़ने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 के अंतर्गत आईपीसी की धारा 188, 269, 270 और पुलिस एक्ट की धारा 111, 114 और 115 के अंतर्गत सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उपायुक्त मंडी ऋग्वेद ठाकुर ने इसकी जानकारी दी है। वहीं एएसपी आशीष चौधरी ने कहा कि दोषी लोगों को पांच दिन की कैद और आठ हजार तक जुर्माना हो सकता है। जिला प्रशासन ने एसपी मंडी, सीएमओ मंडी, जिला के सभी एसडीएम और नेरचौक कोविड अस्पताल प्रबंधन को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं।

प्रदेशभर में चलाए जा रहे हिम सुरक्षा अभियान के तहत शहरों के बाद अब पंचायत स्तर पर भी कोरोना सैंपल लेने के लिए शिविरों का आयोजन किया जाएगा। डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर ने बताया कि जिला प्रशासन का विशेष ध्यान कोरोना टेस्टिंग बढ़ा कर रोग का जल्द पता लगाने पर है। इसे लेकर मंडी जिले के सभी 11 स्वास्थ्य खंडों के लिए विस्तृत कार्ययोजना तैयार की गई है। हर पंचायत को कवर करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने विशेष टीमें गठित की हैं।

प्रदेश में आज से यह अभियान शुरू होगा। उन्होंने कहा कि यह समझने की जरूरत है कि कोरोना जांच से समय रहते रोग का पता लगने से समय पर इलाज संभव है। इससे बहुमूल्य जीवन बचाए जा सकते हैं। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि आगे आकर स्वेच्छा से अपनी कोरोना जांच करवाएं। अपील की कि वे गांवों में आने वाली स्वास्थ्य टीमों का सहयोग करें। ताकि कोरोना महामारी को रोका जा सके।

Next Story