Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जिस गांव तक नहीं पहुंची सड़क, वहां 21 किलोमीटर पैदल चलकर कोरोना वैक्सीन लगाने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कुल्लू जिले (Kullu District) में आजादी से अब तक जिस गांव में अब तक सड़क नहीं पहुंची। वहां अब सरकार की कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) पहुंच गई है।

जिस गांव तक नहीं पहुंची सड़क, वहां 21 किलोमीटर पैदल चलकर कोरोना वैक्सीन लगाने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम
X

जिस गांव तक नहीं पहुंची सड़क, वहां 21 किलोमीटर पैदल चलकर कोरोना वैक्सीन लगाने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कुल्लू जिले (Kullu District) में आजादी से अब तक जिस गांव में अब तक सड़क नहीं पहुंची। वहां अब सरकार की कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) पहुंच गई है। आपको बता दें कि कुल्लू जिले के शाक्टी मरोड़ गांव में अब तक रास्ते भी नहीं हैं। यही नहीं इस गांव अब तक बिजली भी नहीं पहुंची है। वैक्सीनेशन (vaccination) करने वाली टीम को भी यहां पहुंचने के लिए कड़ी महेनत करनी पड़ी। वैक्सीनेशन वाली टीम को इस गांव में पहुंचने के लिए 21 किलोमीटर का पैदल सफर तय करना पड़ा।

आपको बता दें कि वैसे इस गांव तक पहुंचने के लिए लगभग दो दिन का समय लगता है। लेकिन कुल्लू के उपायुक्त आशुतोष गर्ग के सहयोग से स्वास्थ्य विभाग की टीम को भेजा गया, ताकि गांव का कोई भी व्यक्ति बिना वैक्सीन लगाए न रहे। आपको बता दें की वैसे इस गांव तक पहुंचना बेहद कठीन है, लेकिन कुल्लू की स्वास्थ्य विभाग की टीम ने यह भी संभव कर दिखाया। वैक्सीन अभियान को और तेज करने में उपायुक्त कुल्लू आशुतोष गर्ग ने अहम भूमिका निभाई है। वैक्सीन लगवाने के बाद गांव के लोगों में खुशी का माहौल नजर आ रहा है।

आपको बता दें कि स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इस गांव में 66 लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगाई। इसी के साथ उपायुक्त आशुतोष गर्ग की मुहिम आज सफल हो गई। उपायुक्त का मानना है कि कोई भी लक्ष्य हासिल करना असंभव नहीं है बशर्ते इच्छा शक्ति व प्रतिबद्धता होनी चाहिए। इसी के साथ डीसी ने आशा व्यक्त की है कि स्वास्थ्य विभाग भविष्य में भी कोरोना महामारी से इसी संकल्प के साथ निपटेगा और लोगों को सुरक्षित रखने में अपना भरपूर योगदान करता रहेगा।

Next Story