Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चंबा में कोरोना संक्रमित मरीजों को शौचालय में किया आइसोलेट, स्वास्थ्य विभाग की खुली पोल

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के जनजातीय क्षेत्र पांगी में ठेकेदार द्वारा कार्य करने के लिए प्रदेश और अन्य प्रदेशों से मजदूरों को ला रहे हैं। हाल ही में ठेकेदार द्वारा 20 मजदूरों को लाया गया था। उनका कोरोना टेस्ट (Corona Test) करने पर पांच लोग कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) आए हैं।

चंबा में कोरोना संक्रमित मरीजों को शौचालय में किया आइसोलेट, स्वास्थ्य विभाग की खुली पोल
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के जनजातीय क्षेत्र पांगी में ठेकेदार द्वारा कार्य करने के लिए प्रदेश और अन्य प्रदेशों से मजदूरों को ला रहे हैं। हाल ही में ठेकेदार द्वारा 20 मजदूरों को लाया गया था। उनका कोरोना टेस्ट (Corona Test) करने पर पांच लोग कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) आए हैं। उनके साथ आए पंद्रह लोगों की रिपोर्ट नेगटिव आई। लेकिन कोरोना पॉजिटिव आए लोगों को बस स्टैंड के पास सुलभ शौचालय (Sulabh Toilet) में ही आइसोलेट कर दिया गया। इसकी जानकारी जैसे ही लोगों को लगी तो उन्हें बस स्टैण्ड की ओर जाने में ही खतरा महसूस होने लगे।

यहां तक की लोगों को बस स्टैंड के तरफ जाना अपने आप मे खतरा महसूस कर रहे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है देश के हालात इतने खराब तो नहीं है कि मजदूरों को सुलभ शौचालय में इसोलेट करना पड़ रहा है। पांगी प्रशासन को मालूम था कि पांच मजदूर पॉजिटिव (Positive) आये हैं, फिर क्यों उन्हें सुलभ शौचालय में आइसोलेट किया गया। जोकि बस स्टैंड के साथ हैं। जहां पर आम आदमी का आना-जाना रहता है। हिमाचल पथ परिवाहन निगम (Himachal Road Transport Corporation) के कर्मचारियों का निवास भी बसस्टैंड में रहते हैं। उन्हें भी डर है कि वह वायरस की जद में न आ जाएं। बसों में लोगों का आना- जाना रहता है ।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चालक परिचालकों ने पांगी के तमाम रूटों पर आना जाना है। ऐसे में कहीं कोरोना वायरस फैल सकता है। जिससे समस्त पांगी इसके चपेट में आ सकते हैं। हलांकि जैसे ही मीडिया के लोग वहां पहुंचे तो प्रशासन के पहुंचने से पहले ही उन सभी लोगों को वहां से हटा दिया गया था। ठेकेदार की लेबर कोरोना पॉजिटिव आने की बात की जा रही है। ठेकेदार के 20 मजदूरों में से पांच पॉजिटिव आए हैं । उनको सुलभ शौचालय में रखा गया है। ठेकेदार ने किसके कहने पर उन्हें सुलभ शौचालय में बैठाया। क्या ठेकेदार को प्रशासन ने इजाजत दी। यह बड़ा सवाल है। बाकी के लोगों को बस स्टैंड में रखा गया है। यह लोग आपस मे मिल रहे हैं। ऐसे में बस स्टैंड में आने वाली सवारियों के लिए भी खतरा है।

Next Story