Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना के चलते फूलों का कारोबार हुआ चौपट, लाखों का नुकसान

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना महामारी के चलते एक तरफ जहां कारोबारी (Businessman) परेशान हैं वहीं दूसरी तरफ किसानों (Farmers) को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं।

कोरोना के चलते फूलों का कारोबार हुआ चौपट, लाखों का नुकसान
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना महामारी के चलते एक तरफ जहां कारोबारी (Businessman) परेशान हैं वहीं दूसरी तरफ किसानों (Farmers) को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। आलम यह है कि प्रदेश का फूल उत्पादन पूरी तरह से तबाह हो गया है। जहां हिमाचल से हर साल करोड़ों रुपये का फूल व्यवसाय होता था, वह पिछले डेढ़ साल में शून्य हो गया है। इससे फूल उत्पादकों की चिंता बढ गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रदेश सरकार द्वारा भी फूल उत्पादकों के बारे में कोई सुध न लिए जाने से अब इन फूल उत्पादकों (Flower Growers) का भविष्य अंधकारमय बना हुआ है। चाहे बात शिमला की हो या फिर सोलन, मंडी, ऊना या बिलासपुर। सभी जगह फूल उत्पादकों के ऐसे हालात बने हुए हैं। हमीरपुर जिला के बडसर उपमंडल में फूलों का कारोबार कर रहे पवन कुमार कोविड माहमारी के दौरान अब व्यवसाय छोड़ने के लिए मजबूर हैं। पेट पालने के लिए सब्जी की दुकान पर निर्भर हो गए हैं।

वहीं बडसर उपमंडल के तहत फूलों के उत्पादन में नाम कमा चुके पवन कुमार ने साल 2013 में बैंक से तीन करोड रुपये का लोन लेकर कारोबार शुरू किया था और कुछ ही सालों में पूरे प्रदेश में पवन कुमार ने अपना नाम कमा लिया था, लेकिन कोविड माहमारी के चलते अब इनकी भी कमर टूट गई है। फूलों का व्यवसाय पूरी तरह से तहस नहस हो गया है। यहां तक कि कोविड के दौरान तैयार फूलों की फसल को नष्ट करने के लिए तैयार हैं, क्योंकि पाली हाउस में फूल सूख चुके हैं। वहीं फूल कारोबारियों ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गुहार लगाई है कि फूल कारोबार पूरी तरह से नष्ट हो चुका है और हमें जल्द मदद की जाए।

Next Story