Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बारिश के साथ आए तूफान और ओलावृष्टि से किसानों को लाखों का नुकसान

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में पिछले दिन हुई भारी बारिश (Heavy Rain) ने किसानों और बागवानों को काफी नुकसान हुआ है। इससे पहले किसान (Farmer) और बागवान सूखे की मार झेल रहे थे। लेकिन बारिश और बर्फबारी से किसानों का काफी नुकसान (Loss) हुआ है।

बारिश के साथ आए तूफान और ओलावृष्टि से किसानों को लाखों का नुकसान
X

ओलावृष्टि से किसानों को लाखों का नुकसान।

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में पिछले दिन हुई भारी बारिश (Heavy Rain) ने किसानों और बागवानों को काफी नुकसान हुआ है। इससे पहले किसान (Farmer) और बागवान सूखे की मार झेल रहे थे। लेकिन बारिश और बर्फबारी से किसानों का काफी नुकसान (Loss) हुआ है। प्रदेश में बारिश के साथ आए तूफान और ओलावृष्टि से किसान और बागबान की दिक्कत और बढ़ा दी है।

बताया जा रहा है कि सिरमौर जिले के उंचाई वाले क्षेत्र नौहराधार में शनिवार देर शाम को बारिश के साथ आए तूफान व ओलावृष्टि से किसानों व बागबानों को लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। ओलावृष्टि के कारण किसानों के खेतों में मटर, टमाटर व फलदार पौधों को काफी नुकसान हुआ है।

वहीं ओलावृष्टि से कई स्थानों पर अन्य फसलें खेतों में बिछ गई हैं। यहां तक कि बागीचों में लगी जालियों को भी नुकसान पहुंचा है। क्योंकि बारिश के साथ तेज हवाओं से जाल पर होने वाली खेती को काफी नुकसान पहुंचा है। बारिश से किसानों को डवल मार पड़ी है पहले किसान सूखे से परेशान थे वहीं अब बारिश के कारण हुए नुकसान से परेशान हैं।

यहां हुई इतनी मिमी बारिश

आपको बता दें कि प्रदेश के भरमौर में 16 मिमी बारिश दर्ज की गई है। वहीं डलहौजी में 14 मिमी बारिश दर्ज की गई है। अगर उदयपुर की बात करें तो यहां पर 13 बारिश दर्ज की गई है। सुजानपुर टिहरा में 12 मिमी बारिश दर्ज की गई है। इसके अलावा कोठी में 11 मिमी बारिश दर्ज की गई है। वहीं केलांग और बलद्वाड़ा में 10-10 मिमी बारिश हुई है। वहीं मनाली में 9 मिमी बारिश दर्ज की गई है। जोगिंद्रनगर, बिजही, शिमला में 8-8 बारिश हुई है। मैहरे,भुंतर में 7-7 मिमी बारिश हुई है। करसोग, इसके अलावा नगरोटा, कोटखाई, मंडी, टिडर, कंडाघाट, बैजनाथ, राजगढ़, गगल, सरकाघाट, नारकंडा और धर्मशाला में 6-6 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

और पढ़ें
Next Story