Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल में ऑनलाइन पढ़ाई से वंचित हैं सरकारी स्कूलों के कुछ बच्चे

हिमाचल प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पहली से आठवीं कक्षा तक लगभग आधे बच्चे ही अनलाइन पढ़ाई कर पा रहे हैं। प्रदेश में अधिकतर बच्चे ऐसे हें की जिनके पास मोबाइल नहीं है। जब बच्चों के पास मोबाइल ही नहीं है तो वे आनलाइन पढ़ाई कैसे करेंगे।

रकारी स्कूलों के कुछ बच्चे
X
फाइल फोटो

हिमाचल प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पहली से आठवीं कक्षा तक लगभग 92 प्रतिशत बच्चे ही अनलाइन पढ़ाई कर पा रहे हैं। प्रदेश में कुछ बच्चे ऐसे हें की जिनके पास मोबाइल नहीं है। जब बच्चों के पास मोबाइल ही नहीं है तो वे आनलाइन पढ़ाई कैसे करेंगे। बच्चों के परिवारों के पास सबसे बड़ी समस्या यह है कि वे मोबाइल कहां से दिलाएं। आज कल बच्चों को पढ़ाने ने लिए मोबाइल होना बहुत जरूरी हो गया है।

समग्र शिक्षा अभियान में गूगल फार्म से सभी 12 जिलों में कुल 4100 बच्चों पर किए गए सर्वे में यह खुलासा हुआ है। शेष छह फीसदी बच्चे स्मार्ट मोबाइल फोन नहीं होने के चलते अभी पढ़ाई से वंचित हैं। सर्वे में बताया गया है कि 92 फीसदी बच्चे रोजाना वर्कशीट हल कर रहे हैं। 61 फीसदी बच्चे साप्ताहिक टेस्ट दे रहे हैं।

समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक आशीष कोहली ने बताया कि कुल 4100 बच्चों पर किए गए सर्वे में 90 फीसदी बच्चों से मौके पर जाकर बात की गई जबकि दस फीसदी बच्चों से फोन पर जानकारी ली गई। समग्र शिक्षा की ओर से हर घर पाठशाला में भेजी जा रही पठन सामग्री के उपयोग व प्रभाव को जानने के लिए यह सर्वेक्षण किया गया। कोविड 19 की वजह से सुरक्षा का ध्यान रखते हुए सर्वेक्षण को गूगल फार्म की ओर से किया गया। सर्वेक्षण जिला शिक्षा और प्रशिक्षण संस्थान के अनुसंधान एवं मूल्यांकन प्रभारी की ओर से किया गया। इसमें 13.5 फीसदी शहरी और 86.5 फीसदी ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों ने भाग लिया।


Next Story