Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कंगना रनौत अपनी जन्म भूमि से हुईं रूसवां और इस राज्य की खूबसूरती को दे बैंठी अपना दिल

बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री कंगना रनौत (Actress Kangana Ranaut) इन दिनों मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की धरती पर फिल्म धाकड़ (Dhaakad) की शूटिंग कर रही हैं। कंगना रनौत को मध्यप्रदेश इतना पसंद आया कि इसकी खूबसूरती के आगे उनकी जन्मभूमि (हिमाचल) की खूबसूरती भी फीकी पड़ गई।

कंगना शुरू से ही बागी रही हैं, बचपन में पिता को दी थी थप्पड़ मारने की धमकी
X

कंगना शुरू से ही बागी रही हैं, बचपन में पिता को दी थी थप्पड़ मारने की धमकी (फाइल फोटो)

बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री कंगना रनौत (Actress Kangana Ranaut) इन दिनों मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की धरती पर फिल्म धाकड़ (Dhaakad) की शूटिंग कर रही हैं। कंगना रनौत को मध्यप्रदेश इतना पसंद आया कि इसकी खूबसूरती के आगे उनकी जन्मभूमि (हिमाचल) की खूबसूरती भी फीकी पड़ गई। आपको बता दे कि कंगना रनौत का मन मध्य प्रदेश की खूबसूरती ने मोह लिया है। यहीं नहीं उन्होंने सतपुड़ा नेशनल पार्क को हिमाचल से भी सुंदर बताया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुबातिक, अभिनेत्री कंगना रनौत ने फिल्म धाकड़ की शूटिंग के सिलसिले में होशंगाबाद और बेतूल में हैं, लेकिन सतपुड़ा टाइगर रिजर्व की खूबसूरती कंगना को इस कदर भा गई है कि वह लगातार सतपुड़ा की वादियां की खूबसूरती का आनंद ले रहीं हैं। बीते दिनों कंगना ने मध्य प्रदेश टूरिज्म(Madhya Pradesh Tourism) और सीएम शिवराज(CM Shivraj) को टेग कर यह बात जाहिर भी की थी।

आपको बता दें कि एक बार फिर कंगना ने खुले मन से सतपुड़ा टाइगर रिजर्व की खूबसूरती की तारीफ करते हुए एसटीआर की सफारी की फोटो और वीडियो ट्वीट कर अपनी खुशी जाहिर की। कंगना यहीं नहीं रूकी उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि भारत में हिमाचल से भी ज्यादा खूबसूरत स्थान है।

सतपुड़ा टाइगर पार्क देखकर क्या बोलीं कंगना

सतपुड़ा टाइगर रिजर्व की सफारी के दौरान टाइगर सहित अन्य वन्य जीव और सतपुड़ा के जंगलों को देखकर कंगना ने कहा कि मुझे यकीन ही नहीं हो रहा है कि हिमाचल से ज्यादा खूबसूरत सतपुड़ा के जंगल हैं। शूटिंग से समय निकालकर कंगना रविवार को अपनी यूनिट के साथ चूरना पहुंची थी जहां उन्होंने जंगल सफारी की। सफारी के दौरान कंगना ने बाघ सहित अन्य जंगली जानवर देखे और जमकर इसकी तारीफ की। सतपुड़ा की प्राकृतिक वादियों को देखकर कंगना ने कहा कि यहां के जंगल और वादियां इतनी खूबसूरत है कि अपनी और आकर्षित कर लेती हैं। यहां के जानवर और कई ऐसे पशु है जो मैंने पहले कभी नहीं देखे। कंगना ने एक बार फिर मध्य प्रदेश टूरिज्म को धन्यवाद देते हुए लोगों से सतपुड़ा टाइगर रिजर्व घूमने की बात भी कही।

घने जंगलों के बीच है सतपुड़ा टाइगर रिजर्व पार्क

आपको बता दें कि सतपुड़ा टाइगर रिजर्व पार्क 524 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है। अपने आसपास बोरी और पचमढ़ी अभयारण्य के साथ, यह 1427 वर्ग किमी का अद्वितीय मध्य भारतीय पार्वत्य देश (highland) पारिस्थितिकी तंत्र प्रदान करता है। यह 1981 में स्थापित किया गया था। राष्ट्रीय पार्क का इलाका अत्यंत दुर्गम है। और इसके अंतर्गत बलुआ पत्थर चोटियों, संकीर्ण घाटियों, नालों और घने जंगलों के इलाके हैं। इस इलाके की औसतन ऊँचाई 300 से 1352 मीटर है। इस उद्यान में 1350 मीटर ऊँची धूपगढ़ शिखर भी है, और सपाट मैदान भी हैं। राष्ट्रीय पार्क से निकटतम शहर पचमढ़ी है, और निकटतम रेलवे स्टेशन पिपरिया है, जो 55 किलोमीटर दूर है। इसकी राज्य की राजधानी भोपाल से दूरी 210 किलोमीटर है।

Next Story