Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Covid-19: हिमाचल प्रदेश में बढ़ी मृत्यु दर, कोविड रिकवरी रेट इतने फीसदी सुधरा

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना कर्फ्यू (Corona curfew) लगने के बाद से राज्य में कोरोना संक्रमितों (Corona Infected) की संख्या कम जरूर हुई है लेकिन मृत्यू दर में सुधार होने के बजाए कोरोना (Corona) से बढ़ने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है।

Covid-19: हिमाचल प्रदेश में मृत्यू दर बढ़ी, कोविड रिकवरी रेट 4 फीसदी सुधरा
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना कर्फ्यू (Corona curfew) लगने के बाद से राज्य में कोरोना संक्रमितों (Corona Infected) की संख्या कम जरूर हुई है लेकिन मृत्यू दर में सुधार होने के बजाए कोरोना (Corona) से बढ़ने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। वहीं प्रदेश में कोरोना के रिकवरी रेट (Recovery Rate) में सुधार दर्ज किया गया है। बीते सप्ताह जहां रिकवरी रेट 73 फीसदी था, वहीं अब 77 फीसदी हो गया है।

हालांकि, डेथ रेट 0.1 की बढ़ोतरी के साथ 1.47 हो गया है। हिमाचल में अब तक 1,64,355 लोग पॉजिटिव (Positive) आ चुके हैं। इनमें 32913 सक्रिय मरीज हैं, जबकि अब तक प्रदेश (State) में करीब 2447 मौतें हो चुकी हैं। विभाग का मानना है कि प्रतिदिन 4 हजार से ज्यादा लोग ठीक हो रहे हैं। कोरोना के गढ़ बन चुके जिला कांगड़ा में भी एक्टिव मामले घटने लगे हैं। यहां एक्टिव मामलों का आंकड़ा साढ़े 12 हजार से घटकर 11 हजार के आसपास पहुंच गया है।

सोलन, शिमला, मंडी में भी अब स्थिति सामान्य होने लगी है। हालांकि अभी प्रदेश में कोरोना से मौतों पर अंकुश नहीं लग रहा है। आठ दिन में राज्य में 497 मरीजों की मौत हो चुकी है। प्रतिदिन औसतन 60 से ज्यादा लोग मर रहे हैं। कांगड़ा जिले में मौत ने ज्यादा कहर बरपाया हुआ है। यहां रोजाना 20 से 30 मौतें हो रही हं। स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने बताया कि इस महीने के अंत तक सुधार की संभावना है। मुख्य सचिव अनिल खाची ने कहा कि प्रदेश में कोरोना से बढ़ती मौतें चिंता की बात है। उन्होंने कहा है कि लोग सेल्फ मेडिकेशन छोड़ें। थोड़े भी लक्षण हों तो तत्काल टेस्ट करवाकर उपचार शुरू करें। देरी से अस्पताल पहुंचना या इलाज में देरी होने से मौतें बढ़ रही हैं।

Next Story