Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल में 15 जनवरी के बाद पहुंचेगी कोरोना वैक्सीन, इन्हें लगेगा पहला टीका

हिमाचल प्रदेश में कोरोना वैक्सीन 10 दिन बाद पहुंचने की उम्मीद है। माना जा रहा है कि कोरोना वैक्सीन 16 या 17 जनवरी को हिमाचल पहुंच सकती है। इसके बाद हिमाचल में पहले चरण का टीकाकरण शुरू हो जाएगा।

हिमाचल में 15 जनवरी के बाद पहुंचेगी कोरोना वैक्सीन, इन्हें लगेगा पहला टीका
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश में कोरोना वैक्सीन 10 दिन बाद पहुंचने की उम्मीद है। माना जा रहा है कि कोरोना वैक्सीन 16 या 17 जनवरी को हिमाचल पहुंच सकती है। इसके बाद हिमाचल में पहले चरण का टीकाकरण शुरू हो जाएगा। इसका खुलासा कल हुई कैबिनेट की बैठक के बाद शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने किया। राज्य में पहले चरण में यह वैक्सीन एक लाख 35 हजार फ्रंटलाइन वर्कर्स को यह वैक्सीन दी जाएगी। इसके बाद दूसरे चरण की वैक्सीन पर काम किया जाएगा।

300 सेंटरों में यह वैक्सीन लगाई जानी है। जरूरत पड़ने पर केंद्रों को बढ़ाया भी जा सकता है। आपको बता दें कि एक सेंटर पर एक दिन में 100 लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। इसके लिए टीमों का भी गठन कर दिया गया है। 11 जनवरी को राज्यभर में वैक्सीन को लेकर ड्राई रन किया जाएगा ताकि लोगों तक सही ढंग से वैक्सीन पहुंचाई जा सके।

शिमला के तीन सेंटरों में पहले ही ड्राई रन का आयोजन किया जा चुका है। रोजाना 30 हजार लोगों को कोविड का टीका लगाया जाएगा। हर सेंटर पर एंबुलेंस भी तैनात रहेगी, ताकि अगर किसी को टीकाकारण के बाद कोई दिक्कत आए तो अस्पताल पहुंचाया जा सके। पहले जहां 90 हजार फ्रंट लाइन वर्करों को यह टीका लगाया जाना था। यह संख्या अब बढ़कर एक लाख 35 हजार हो गई है।

ऐसे में अब सेंटरों की संख्या को भी बढ़ाया जा सकता है। इस पर भी स्वास्थ्य विभाग विचार-विर्मश करेगा। दूसरे चरण में टीकाकरण को लेकर भी रणनीति बनाई जा रही है। इसमें 50 साल के ऊपर के बुजुर्गों समेत अन्य बीमारियों से ग्रसित लोगों को यह वैक्सीन लगाई जाएगी। बहरहाल केंद्र से गाइडलाइन आने के बाद ही दूसरे चरण में वैक्सीनेशन की योजना तैयार की जाएगी।

वहीं जब भी दिल्ली से कोरोना की वैक्सीन मिलेगी, सबसे पहले इसे शिमला पहुंचाया जाएगा। इसके बाद यहां से सप्लाई रीजनल सेंटरों धर्मशाला और मंडी में की जाएगी। इसके बाद यहां से बाकी जिलों को दवाई भेजी जाएगी। जिलाभर में विभिन्न स्थानों पर सेंटर बनाए गए हैं, जहां पर वैक्सीन रखी और लगाई जाएगी। उसके बाद ही इसके टीके लगने शुरू होंगे

Next Story