Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शिमला जिला परिषद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर कांग्रेस का कब्जा, भाजपा प्रत्याशी को 6 मतों से हराया

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में जिला परिषद चुनाव (Shimla Zila Parishad Adhyaksh) में कांग्रेस की चन्द्र प्रभा नेगी (Chandra Prabha Negi) अध्यक्ष और सुरेंद्र रेटका को उपाध्यक्ष चुना गया है। आपको बता दें कि कांग्रेस (Congress) की चन्द्र प्रभा नेगी ने 6 मतों से जीत हासिल की है। इसी के साथ चन्द्र प्रभा नेगी ने भाजपा (BJP) के जिला परिषद अध्यक्ष को करारा झटका किया है।

शिमला जिला परिषद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर कांग्रेस का कब्जा, भाजपा प्रत्याशी को 6 मतों से हराया
X

चन्द्र प्रभा नेगी जिला परिषद अध्यक्ष व सुरेंद्र रेटका उपाध्यक्ष

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में जिला परिषद चुनाव (Shimla Zila Parishad Adhyaksh) में कांग्रेस की चन्द्र प्रभा नेगी (Chandra Prabha Negi) अध्यक्ष और सुरेंद्र रेटका को उपाध्यक्ष चुना गया है। आपको बता दें कि कांग्रेस (Congress) की चन्द्र प्रभा नेगी ने 6 मतों से जीत हासिल की है। इसी के साथ चन्द्र प्रभा नेगी ने भाजपा (BJP) के जिला परिषद अध्यक्ष को करारा झटका किया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अध्यक्ष पद के लिए चंद्र प्रभा नेगी को 15 वोट मिले, जबकि भाजपा की भारती जनारथा को मात्र 9 वोट डले हैं। वहीं, उपाध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस के सुरेंद्र रेटका को 17 मत, जबकि भाजपा प्रत्याशी मदन लाल को 7 वोट मिले हैं। जिला परिषद चुनाव में कुल 24 सीटों में से कांग्रेस के 13, भाजपा के 4, माकपा के 3 और चार निर्दलीय सदस्यों ने मतदान किया था। डीसी शिमला आदित्य नेगी ने यह जानकारी दी।

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने जीत के बाद सभी विजेताओं से मुलाकात की और उन्हें बधाई भी दी। सोशल मीडिया पर राठौर ने लिखा कि आप सभी को बधाई औ शुभकामनाएं। जय कांग्रेस-विजय कांग्रेस। इससे पहले भी चंद्र प्रभा जिला परिषद शिमला की अध्यक्ष रह चुकी हैं, लेकिन उनका कार्यकाल पूरा नहीं हो पाया था। कांग्रेस और भाजपा के बीच बराबर की टक्कर थी।

आपको बता दें कि इससे पहले 4 जनवरी को शिमला में भारी बर्फबारी के चलते यह चुनाव टल दिया गया था और गुरुवार का दिन चुनाव के लिए तय किया गया था। अब चुनाव में कांग्रेस की जीत से भाजपा को काफी झटका लगा है। क्योंकि मौजूदा समय में प्रदेश में भाजपा की सरकार है। वहीं, निगम पर भी भाजपा का कब्जा है।

Next Story