Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रदेशवासियों में अपनत्व की भावना उत्पन्न करेगी रथ यात्रा : सीएम जयराम ठाकुर

हिमाचल प्रदेश के पूर्ण राज्यत्व के स्वर्ण जयंती वर्ष के अवसर पर प्रस्तावित रथ यात्रा प्रदेश के 50 वर्षों के शानदार सफर को लेकर लोगों में अपनत्व की भावना उत्पन्न करेगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज शिमला में प्रस्तावित स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा के लिए बैठक आयोजित करने के दौरान ये बात कही।

प्रदेशवासियों में अपनत्व की भावना उत्पन्न करेगी रथ यात्रा : सीएम जयराम ठाकुर
X

प्रस्तावित रथ यात्रा की तैयारी के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए।

हिमाचल प्रदेश के पूर्ण राज्यत्व के स्वर्ण जयंती वर्ष के अवसर पर प्रस्तावित रथ यात्रा प्रदेश के 50 वर्षों के शानदार सफर को लेकर लोगों में अपनत्व की भावना उत्पन्न करेगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज शिमला में प्रस्तावित स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा के लिए बैठक आयोजित करने के दौरान ये बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा में प्रदेश के लोगों की भागीदारी सुनिश्चित की जानी चाहिए। इस आयोजन को सफल बनाने के लिए पंचायती राज संस्थाओं और शहरी स्थानीय निकायों के निर्वाचित प्रतिनिधियों की सक्रिय भागीदारी भी सुनिश्चित की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि रथों की बनावट में एकरूपता और आकर्षण होना चाहिए।

हिमाचल दिवस पर होगा रथ यात्रा का आगाज

सीएम ने कहा कि रथ यात्रा संभवतः हिमाचल दिवस के पावन अवसर पर 15 अप्रैल को आरंभ होगी, जो प्रदेश के सभी क्षेत्रों से होकर गुजरेगी। उन्होंने कहा कि यात्रा के दौरान सभी प्रमुख विभागों को अपनी उपलब्धियों को चिन्हांकित करने के लिए सक्रियता से अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी है।

रथ यात्रा समिति का किया जाएगा गठन

रथ यात्रा संबंधित क्षेत्र की दो-तीन पंचायतों के सभी क्लस्टर से होकर निकलेगी, जहां राज्य की उपलब्धियों के बारे में गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों को विशिष्ट रूप से दर्शाया जाएगा। उन स्थानों की उपलब्धियों को भी उजागर करने के प्रयास किए जाएंगे, जहां से रथ यात्रा निकलेगी। रथ यात्रा को आकर्षक और सूचनात्मक बनाने के लिए रथ यात्रा समिति गठित की जाएगी।

महिला मंडलों और युवक मंडलों की भागीदारी भी होगी सुनिश्चित

वहीं सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रस्तावित रथ यात्रा एक संबंधित क्षेत्र में एक दिन निकलेगी जहां रथ को रखा जाएगा और स्थानीय लोग कार्यक्रम आयोजित करेंगे। उन्होंने कहा कि इसमें महिला मंडलों और युवक मंडलों की भागीदारी भी सुनिश्चित की जाएगी। रथ यात्रा संबंधित जिले और क्षेत्र की विशेषताओं को भी प्रदर्शित करेगी।

Next Story