Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम ने जनता TV के वरिष्ठ पत्रकार सकेत सुमन के निधन पर जताया दुख

कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर सीएम जयराम ठाकुर (Cm Jairam Thakur) आज मंड़ी जिले के दौरे पर हैं। यहां उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए हमारी सरकार (Government) प्रभावी कदम उठा रही है।

सीएम ने जनता TV के वरिष्ठ पत्रकार सकेत सुमन के निधन पर जताया दुख
X

सीएम ने जनता TV के वरिष्ठ पत्रकार सकेत सुमन के निधन पर जताया दुख

कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर सीएम जयराम ठाकुर (Cm Jairam Thakur) आज मंड़ी जिले के दौरे पर हैं। यहां उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए हमारी सरकार (Government) प्रभावी कदम उठा रही है। आज उन्होंने मण्डी के भंगरोटू स्थित प्री-फैब्रिकेटेड मेकशिफ्ट कोविड-19 अस्पताल (Covid-19 Hospital) का निरीक्षण किया। इसके बाद उन्होंने कहा कि इस अस्पताल में कोविड के मरीजों के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी।

सीएम ने पत्रकार सकेत सुमन के निधन पर जताया दुख

वहीं सीएम जयराम ठाकुर ने न्यूज चैनल "जनता TV" के आउटपुट हेड, वरिष्ठ एवं अनुभवी पत्रकार श्री सकेत सुमन जी के असामयिक निधन पर भी ट्वीट कर दुख जताया। वहीं उनहोंने कहा कि मीडिया जगत के लिए उनके रूप में एक बहुत बड़ी क्षति है, जिसकी भरपाई नहीं हो सकेगी। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति व शोकग्रस्त परिवार को संबल प्रदान करें।

मातृ एवं शिशु अस्पताल का भी किया निरीक्षण

इसके बाद सुंदरनगर पहुंचने पर उन्होंने मातृ एवं शिशु अस्पताल का भी निरीक्षण किया। सीएम ने यहां पर कहा कि करोड़ों की लागत से निर्मित यह अस्पताल मण्डी की जनता को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दृष्टि से वरदान साबित होगा। प्रदेशवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देना हमारी प्रतिबद्धता है। कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर प्रदेश के हर जिले में उचित व्यवस्था की जा रही है।

5 हजार बेड बढ़ाने के दिए निर्देश

वहीं उन्होंने कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए प्रदेश में 5 हजार बेड की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों के लिए भी दिए भी सख्त दिशा निर्देश दिए हैं। जैसे प्रदेश आने से पहले आरटीपीसीआर रिपोर्ट लाना जरूरी है। अगर बाहर से आने वाले पर्यटक के लिए आरटीपीसीआर रिपोर्ट नहीं है होगी तो उसे 14 दिन के लिए घर पर होना। घर पर आइसोलेट होने पर स्वास्थ्य विभाग लोगों की निगरानी करेगा। आंगनवाड़ी वर्कर और पंचायत प्रतिनिधि की निगरानी में रहना पड़ेगा। अगर कोई नियमों का उल्लंघन करते हुए पकड़ा गया तो उसक खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Next Story