Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल प्रदेश: कुल्लू में फिर फटा बादल, कई गाड़ियां बहीं

हिमाचल प्रदेश में मॉनसून का रौद्र रूप देखने को मिला है। प्रदेश भर में भारी बारिश की वजह से जनजीवन अस्‍त-व्यस्त हो गया है। सूबे में नदी नाले उफान पर हैं। इस वजह से कई प्रमुख सड़कों पर यातायात प्रभावित हुआ है। प्रदेश के कुल्लू जिले की भलाण-एक पंचायत के पालगी नाला में बादल फट गया।

हिमाचल के कुल्लू में फिर फटा बादल, कई गाड़ियां बहीं
X
कुल्लू जिले के पालगी नाला में बादल फटने के बाद का दृश्य।

हिमाचल प्रदेश में मॉनसून का रौद्र रूप देखने को मिला है। प्रदेश भर में भारी बारिश की वजह से जनजीवन अस्‍त-व्यस्त हो गया है। सूबे में नदी नाले उफान पर हैं। इस वजह से कई प्रमुख सड़कों पर यातायात प्रभावित हुआ है। प्रदेश के कुल्लू जिले की भलाण-एक पंचायत के पालगी नाला में बादल फट गया। बादल फटने से लाखों का नुकसान हुआ है। बादल फटने से आई बाढ़ के कारण एक गाड़ी, पांच लाख से बनी पुलिया सहित कई घराट भी बह गए हैं। वहीं खोड़ाआगे-पालगी सड़क भी बंद हो गई है। इसके साथ ही लोगों की निजी भूमि को भी भारी क्षति हुई है। झूणी नाला में भी आई बाढ़ के चलते शौठ निहारगडृू देवता का तीर्थ स्थल भी क्षतिग्रस्त हुआ है। बीस भादों को यहां पर सैकड़ों श्रद्धालु उमड़ते हैं।

लगातार दो दिनों में दो बादल फटने से घाटी के लोग सहम गए हैं। वहीं दूसरी ओर रोहतांग दर्रा सहित लाहौल की चोटियों में ताजा बर्फबारी हुई है। ऊंची चोटियों में ताजा बर्फबारी होने से मौसम सुहावना हो गया है। इसके अलावा कुल्लू जिले के निचले इलाकों में भारी बारिश होने से करीब दो दर्जन सड़कें, पेयजल योजनाएं प्रभावित हो गई हैं। धामण पुल की प्लेटें टूटने से एनएच 305 पर अभी भी वाहनों की आवाजाही ठप पड़ी हुई है। जिससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा है। पागलनाला में भी मलबा आने से सैंज-लारजी सड़क बंद है। करीब छह घंटे तक हुई भारी बारिश से कुल्लू जिले में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।


Next Story