Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल के साथ लगे बॉर्डर पर चीन ने बनाईं नई सड़कें, निर्माण कार्य से खुफिया एजेंसियां चिंतित

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के लाहौल-स्पीति (Lahaul-Spiti) में समदो बॉर्डर के पार चीन नई सड़कें (new roads) और पक्के भवन बना रहा है। इनकी जानकारी लगने पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Cm Jairam Thakur) ने डीजीपी संजय कुंडू के साथ शनिवार को बॉर्डर का दौरा किया।

हिमाचल के साथ लगे बॉर्डर पर चीन ने बनाईं नई सड़कें, निर्माण कार्य से खुफिया एजेंसियां चिंतित
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के लाहौल-स्पीति (Lahaul-Spiti) में समदो बॉर्डर के पार चीन नई सड़कें (new roads) और पक्के भवन बना रहा है। इनकी जानकारी लगने पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Cm Jairam Thakur) ने डीजीपी संजय कुंडू के साथ शनिवार को बॉर्डर का दौरा किया। सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री ने इसको लेकर ग्रामीणों, आईटीबीपी (ITBP) और सेना से भी बात की है। सीएम (jairam thakur) का कहना है कि इस बारे में केंद्र सरकार को रिपोर्ट भेजी जाएगी। वहीं आईटीबीपी और सेना सतर्क हो गई है, जबकि खुफिया एजेंसियों ने भी अलर्ट जारी किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन के निर्माण कार्य से इससे खुफिया एजेंसियां चिंतित हैं। विश्वस्त सूत्रों के अनुसार लाहौल-स्पीति के इस सीमावर्ती क्षेत्र के दौरे पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और डीजीपी हेलीकॉप्टर से गए। यह दौरा इस तरह से अचानक किया गया कि इनके साथ इनके पीएसओ या व्यक्तिगत स्टाफ के अधिकारी और कर्मचारी तक नहीं थे। दोनों के वहां जाने की किसी को भनक तक नहीं थी। बाद में आईटीबीपी और सेना के अधिकारियों से भेंट की सूचना जारी की गई। बताया जा रहा है कि सीमा के उस पार जहां पहले कच्चे मकान थे, वहां पक्के भवन बनाए जा रहे हैं।

इसके अलावा यहां कछ सड़कें भी तैयार की जा रही हैं। सूत्रों के मुताबिक इस दौरान आईटीबीपी और सेना के अधिकारियों ने मुख्यमंत्री से पेयजल जैसी कुछ मूलभूत और जरूरी सुविधाएं देने का भी आग्रह किया। जिस पर सीएम ने सरकार के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं। बॉर्डर की तमाम गतिविधियों का जायजा लेने के बाद मुख्यमंत्री आईटीबीपी मैदान रिकांगपिओ पहुंचे। यहां उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि समदो क्षेत्र जहां हमारी सीमा के सा तिब्बत (चीन) की सीमा लगती है का दौरा किया है। बॉर्डर पर तमाम गतिविधियों को उन्होंने जाना है। इसकी रिपोर्ट अब केंद्र सरकार को देंगे। सीएम ने राष्ट्र की सीमाओं की रक्षा में सेना के जवानों की भूमिका की सराहना की।

आपको बता दें कि जमीन के हिस्से पर कब्जे को लेकर चीन के साथ चल रही भारत की तनातनी में अब हिमाचल प्रदेश केंद्र बिंदु बन सकता है। प्रदेश में चीन से लाहौल-स्पीति और किन्नौर जिले की करीब ढाई सौ किलोमीटर लंबी सीमा लगती है। सीमा पर भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) मोर्चा संभाल रहा है, जबकि दूसरे चक्र में सेना तैनात है। पिछले साल चीन सेना के दो हेलीकॉप्टरों ने हिमाचल प्रदेश के समदो में करीब दस किलोमीटर अंदर तक उड़ान भरी थी। उसके बाद से लगातार प्रदेश में सेना की इस इलाके में तैनाती बढ़ गई थी।

Next Story