Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चुराह सड़क हादसे की होगी मजिस्ट्रियल जांच, बस खाई में गिरने से 9 लोगों की हो गई थी मौत

हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले (Chamba District) में कल सुबह एक दर्दनाक सड़क हादसा (Road Accident) हो गया जिसमें 9 लोगों की मौत (Death) हो गई थी। हादसा इतना भयावह था कि देखने वालों की रूह कांप गई। दरअसल बस जब चुराह (Churah Road Accident) क्षेत्र में थी उस समय एक मोड़ पर मुड़ते समय बस नीचे फिसल गई जिसमें 9 लोगों की जान चली गई।

चुराह सड़क हादसे की होगी मजिस्ट्रियल जांच, बस खाई में गिरने से 9 लोगों की हो गई थी मौत
X

चुराह सड़क हादसे की होगी मजिस्ट्रियल जांच।

हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले (Chamba District) में कल सुबह एक दर्दनाक सड़क हादसा (Road Accident) हो गया जिसमें 9 लोगों की मौत (Death) हो गई थी। हादसा इतना भयावह था कि देखने वालों की रूह कांप गई। दरअसल बस जब चुराह (Churah Road Accident) क्षेत्र में थी उस समय एक मोड़ पर मुड़ते समय बस नीचे फिसल गई जिसमें 9 लोगों की जान चली गई।

वहीं अब इस सड़क हादसे के कारणों को जानने के लिए मजिस्ट्रियल जांच (Magisterial inquiry) करवाई जाएगी। इसके लिए एसडीएम चुराह (SDM Churah) की अध्यक्षता में कमेटी गठित होगी, ताकि हादसे की सही वजह का पता लगाया जा सके। यह जानकारी उपायुक्त डीसी राणा ने बुधवार को दुर्घटनास्थल का जायजा लेने के बाद दी। उपायुक्त ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग (Health Department) को सभी घायलों के समुचित इलाज की व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं। हादसे के कारणों की जांच की जाएगी। इस तरह के हादसों (Accidents) में जान माल की काफी हानि होती है। उन्होंने कहा कि जांच के बाद ही कारणों का सही तरह से पता चलेगा।

इसके अलावा हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों को बीस-बीस हजार और घायलों को पांच-पांच हजार रुपए की फौरी राहत प्रदान कर दी गई है। बता दें कि बुधवार सुबह बोंदेड़ी से चंबा की तरफ आ रही निजी बस (Private Bus) कालोनी मोड़ के समीप अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिरने से नौ लोगों की मौत हुई है, जबकि 10 लोग ही घायल हा गए थे।

सात जन्मों की कसमें खाकर अंतिम सफर पर निकला जोड़ा

आपको बता दें कि इस सड़क हादसे में सात जन्मों की कसमें खाकर शादी के बंधन में बंधे चुहाड़ गांव के उमेदा व भागदेई ने एक साथ दुनिया को अलविदा कह दिया। इस हादसे में उन दोनों की दर्दनाक मौत हो गई। दोपहर बाद सफेद कफन से लिपटे पति-पत्नी के शव घर के आंगन में पहुंचने पर पारिवारिक सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल था। मां-बाप को एक साथ खोने का गम औलाद के चेहरे पर साफ दिख रहा था। माहौल इतना हृदयविदारक था कि मौके पर मौजूद हर व्यक्ति की आंख नम दिखी। चुहाड़ गांव का उमेदा बुधवार सुबह पत्नी भागदेई संग तीसा अस्पताल में चैकअप के लिए बस में सवार होकर घर से निकले थे।

Next Story