Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भोले के जयकारों से गूंज उठा प्राचीन नाग मंदिर करियाड़ा, जानें इसकी विशेषता

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के करियाड़ा का सुप्रसिद्ध प्राचीन ऐतिहासिक शक्तिपीठ नाग मंदिर (Temple) कोरोना संकट काल के करीब आठ महीनों बाद अब दोबारा श्रद्धालुओं से गुलजार होने लगा है।

भोले के जयकारों से गूंज उठा प्राचीन नाग मंदिर करियाड़ा, जानें इसकी विशेषता
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के करियाड़ा का सुप्रसिद्ध प्राचीन ऐतिहासिक शक्तिपीठ नाग मंदिर (Temple) कोरोना संकट काल के करीब आठ महीनों बाद अब दोबारा श्रद्धालुओं से गुलजार होने लगा है। सोमवार को यहां हिमाचल के कोने -कोने से ही नहीं, बल्कि पड़ोसी राज्यों से भी श्रद्धालु पहुंचे। इस दौरान सुबह करीब पांच बजे से ही कोरोना नियमों का पालन करते हुए श्रदालुओं ने यहां विराजमान प्राकृतिक शिवलिंग के दर्शन कर दूध व लस्सी का अभिषेक किया और भक्तों ने बमबम भोले नाग मंदिर करियाड़ा के जयकारे लगाए। उधर नगरी के त्रम्बीकेश्वर धाम मंदिर में 251 पार्थिव शिवलिंगों का पूर्ण विधि-विधान व मंत्रोच्चारण के साथ पूजन किया गया।

भारी संख्या में पर्यटक पहुंच रहे हैं हिमाचल

प्रदेश में पर्यटकों का जाना अभी भी जारी है। पर्यटकों की भीड़ का देखते हुए हिमाचल पुलिस ने अब सख्ती और बढ़ा दी है। हिमाचल पुलिस ने अब उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश व हरियाणा सीमा से हिमाचल प्रदेश में व पांवटा में आने वाले सैलानियों की गाड़ियों की पुलिस ने जांच करनी शुरू कर दी है। शुक्रवार को पांवटा के डीएसपी वीर बहादुर व थाना प्रभारी अशोक चौहान ने हरियाणा सीमा के साथ लगते बहराल नाके व उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश के गोविंद घाट नाके पर नाका बंदी की। इस दौरान नियमों की अवहेलना करने वाले पर्यटकों को हिमाचल सीमा से वापस कर दिया गया।

Next Story