Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली से गांव आए व्यक्ति की लापरवाही पड़ी भारी, 28 लोग पाए गए संक्रमित

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना बेकाबू होता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में रिकार्ड 2073 मामले दर्ज किए गए थे। कोविड (Covid) के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग (Health Department) और प्रदेश सरकार की चिंताएं बढ़ती जा रही हैं।

कोरोना के मरीज घर पर रहकर ऐसे करें अपना इलाज, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन
X

कोरोना के मरीज घर पर रहकर ऐसे करें अपना इलाज, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन ( फाइल फोटो)

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना बेकाबू होता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में रिकार्ड 2073 मामले दर्ज किए गए थे। कोविड (Covid) के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग (Health Department) और प्रदेश सरकार की चिंताएं बढ़ती जा रही हैं। देखा जा रहा है कि शहर के बाद कोरोना (Corona) गांव में भी अपनी दस्तक दे चुका है। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए एहतियात बरतना बहुत जरूरी है कई बार लोग लापरवाही (Negligence) बरतते हैं जिसका खामिजाया उन्हें ही नहीं दूसरे लोगों को भी भुगतना पड़ा है। ऐसा ही कुछ हुआ सुंदरनगर ( Sundernager)की एक पंचायत में। उपमंडल सुंदरनगर की अति दुर्गम पंचायत बाढ़ूरोहाड़ा पंचायत के वार्ड 2-रोहाड़ा में एक साथ 32 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं जिनमें से 2 महिलाओं की मौत( Death) भी हो चुकी है।

जानकारी के अनुसार बाढ़ूरोहाड़ा पंचायत के वार्ड 2-रोहाड़ा से तालुक रखने वाला एक व्यक्ति किसी काम के सिलसिले से दिल्ली( Delhi)गया था लेकिन जैसे ही वह व्यक्ति अपने घर पहुंचा तो वह पूरे गांव में और अपने वार्ड में घूमता रहा। लेकिन कुछ दिनों बाद उसे और उसकी मां को तेज बुखार आने लगा। जैसे ही बेटा और मां करसोग अस्पताल में इलाज करवाने के लिए पहुंचे तो डॉक्टरों ने उनका कोरोना टेस्ट लिया गया। दोनों ही संक्रमित पाए गए। जब संक्रमित पाई गई महिला की तबीयत ज्यादा खराब हुई तो उसे मेडिकल कॉलेज नेरचौक( Medical College Nerchowk)रेफर कर दिया गया लेकिन रास्ते में ही उनकी मौत हो गई ।

महिला का अंतिम संस्कार स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना नियमों के तहत ड़डौर स्थित सुकेती खड्ड के किनारे किया। उसके तुरंत बाद मृतक महिला की एक रिश्तेदार महिला को भी तेज बुखार आने लगा, जब उसका और उसके बेटे का कोरोना टेस्ट( Corona test) लिया गया तो वह दोनों भी संक्रमित पाए गए और उसी रात को उस 73 वर्षीय महिला ने भी अपने घर में दम तोड़ दिया।

वहीं जब क्षेत्र के अन्य लोगों का कोरोना टेस्ट लिया गया तो एक साथ 28 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। वही अगर दिल्ली से वापस लौटे व्यक्ति ने सावधानी बरती होती तो आज पूरे क्षेत्र के लोगों को कोरोना से जूझना ना पड़ता। अब आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि यह वायरस कितनी तेजी से एक दूसरे में फैल रहा है।

Next Story