Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Kinnaur: छितकुल मार्ग पर अभी भी फंसे हैं करीब 150 पर्यटक, सड़कों को बहाल करने के जुटा प्रशासन

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के किन्नौर जिले (Kinnaur district) में सांगला-छितकुल मार्ग पर बीते रविवार को बटसेरी में पहाड़ी से दरकी चट्टानों की चपेट में आए पर्यटकों (Tourist) के शव पोस्टमार्टम के बाद हिमाचल भवन दिल्ली भेजे गए हैं।

Kinnaur: छितकुल मार्ग पर अभी भी फंसे हैं करीब 150 पर्यटक, सड़कों को बहाल करने के जुटा प्रशासन
X

सीएम जयराम ठाकुर।

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के किन्नौर जिले (Kinnaur district) में सांगला-छितकुल मार्ग पर बीते रविवार को बटसेरी में पहाड़ी से दरकी चट्टानों की चपेट में आए पर्यटकों (Tourist) के शव पोस्टमार्टम के बाद हिमाचल भवन दिल्ली भेजे गए हैं। वहां आवासीय आयुक्त मृतकों के शवों को उनके परिजनों को सौंपेंगे।

वहीं सीएम जयराम ठाकुर (Cm Jairam Thakur) ने बताया कि आठ मृतकों के शव दिल्ली तक पहुंचाने के लिए सरकार ने प्रबंध किया है। एक मृतक नेवी के लेफ्टिनेंट अमोच बापत का शव कड़छम स्थित सेना के अधिकारियों को सौंपा गया है। वहीं, हादसे के बाद छितकुल और रक्षम में 150 सैलानी फंसे हुए हैं। छितकुल, रक्षम और बटसेरी पंचायतों में बिजली गुल है जबकि सिंचाई योजना भी ठप पड़ी हुई है। सोमवार को एसडीएम कल्पा एवं जिला पर्यटन अधिकारी स्वाति डोगरा ने घटनास्थल का दौरा किया।

उपायुक्त किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने कहा कि सांगला-छितकुल संपर्क मार्ग पर गुंसा के पास 300 मीटर बंद पड़ी सड़क को बहाल करने के लिए मशीनरी जुटी हुई है। डेढ़ करोड़ की लागत से बने 120 मीटर लंबे वैली ब्रिज की मरम्मत भी जल्द शुरू की जाएगी। उल्लेखनीय है कि रविवार को हुए हादसे में राजस्थान, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और दिल्ली के नौ पर्यटकों की मौत हो गई थी।

आपको बता दें कि मौसम विभाग ने हिमाचल प्रदेश में दो दिन भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। वहीं चंबा, कांगड़ा, मंडी, कुल्लू व शिमला में आकस्मिक बाढ़ की भी चेतावनी भी जारी की है। मानसून के कोहराम की मार झेल रहे हिमाचल में मंगलवार का दिन फिर से भारी पड़ सकता है। मौसम विभाग दिल्ली द्वारा राज्य के चार जिलों में बहुत भारी बारिश के साथ साथ फ्लैश फ्लड का अलर्ट जारी किया गया है, जो तबाही का कारण बना सकता है। विभाग ने लोगों को पूरी तरह से ऐतिहात बरतने का परामर्श दिया है। वहीं विभाग ने लोगों को नदी-नालों से दूर रहने की भी सलाह दी है।

Next Story