Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विदेश में बैठे युवा किसान आंदोलन में कर रहे मदद, गांव से दिल्ली जाने वाले हर किसान के डीजल का उठा रहे खर्च

सतिंदर सिंह पिछले लंबे समय से अमरीका में रह रहा है। सतिंदर सिंह ने बताया कि दिल्ली आंदोलन पर बैठे किसानों की हर प्रकार से मदद की जाएगी। गांव कालिया से जो भी किसान दिल्ली की तरफ जाएगा, उस किसान की गाड़ी में डीजल व पेट्रोल का खर्चा वह स्वयं उठाएगा और खाने की सामग्री से लेकर अन्य खर्च भी किसानों को भेजा जाएगा।

विदेश में बैठे युवा किसान आंदोलन में कर रहे मदद, गांव से दिल्ली जाने वाले हर किसान के डीजल का उठा रहे खर्च
X

एनआरआई सतिंदर सिंह की फाइल फोटो।

हरिभूमि न्यूज : फतेहाबाद (जाखल)

कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को विदेशों में बैठे एनआरआई से भी खूब समर्थन मिल रहा है। सोशल मीडिया के माध्यम से समर्थन के साथ एनआरआई आंदोलन में आर्थिक मदद भी कर रहे हैं। अब हरियाणा व पंजाब से किसान आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए जाने वाले किसानों की तादाद लगातार बढ़ती जा रही है।

जाखल क्षेत्र के साथ लगते पंजाब के गांव कालिया जिला संगरूर का युवक विदेश में रहकर भी किसानों की हर प्रकार से मदद कर रहा है। सतिंदर सिंह पिछले लंबे समय से अमरीका में रह रहा है। सतिंदर सिंह ने बताया कि दिल्ली आंदोलन पर बैठे किसानों की हर प्रकार से मदद की जाएगी। गांव कालिया से जो भी किसान दिल्ली की तरफ जाएगा, उस किसान की गाड़ी में डीजल व पेट्रोल का खर्चा वह स्वयं उठाएगा और खाने की सामग्री से लेकर अन्य खर्च भी किसानों को भेजा जाएगा। सतिंदर ने कहा कि भले ही वे विदेश में रह रहे हैं, लेकिन गांव की मिट्टी से ही उनका नाता जुड़ा है।

उन्होंने कहा कि मैं किसान का बेटा हूं तो किसानी आज भी मेरा पहला धर्म है। हमारा भी यह कर्त्तव्य है कि जितना हो सकें, हम इस आंदोलन में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि उन्हें तो किसानों की जीत का इंतजार है। यही कारण है कि विदेश में बैठकर भी फोन के जरिये आंदोलन की हर गतिविधि की जानकारी ले रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि सभी एकजुटता से अपने मिशन पर अवश्य फतेह हासिल करेंगे।

Next Story