Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रोहतक में पहलवान की गोली मारकर हत्या

अंकुश सोमवार शाम को दो दोस्तों के साथ वैश्य कॉलेज परिसर में स्थित अग्रसेन स्टेडियम में आया था, जहां तीनों प्रेक्टिस कर रहे थे। इस दौरान दो युवक दीवार फांद कर आए और अंकुश पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी। उसके कमर, गर्दन और सिर में पीछे से चार गोली मारी गई। उसकी मौके पर ही मौत हाे गई।

Kaimur murder Two people including Congress leader Tirpan Singh shot dead
X

हत्या (प्रतीकात्मक तस्वीर)

हरिभूमि न्यूज : रोहतक

जॉट कॉलेज के अखाड़े में फरवरी माह में पहलवानों के साथ हुए खूनी खेल को लोग भूले भी नहीं थे। सोमवार को वैश्य कॉलेज के महाराजा अग्रसेन स्टेडियम में बदमाशों ने प्रेक्टिस करने आए पहलवान की ताबड़तोड़ गोली मारकर हत्या कर दी। उसके साथ प्रेक्टिस कर रहे दो युवकों ने भाग कर जान बचाई। हत्यारे बाइक पर सवार होकर फरार होने में कामयाब रहे। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल शुरू कर दी। वहीं अंकुश के परिजनों ने मायना निवासी गोगी पर शक जाहिर किया है। मामले के अनुसार, 28 वर्षीय अंकुश उर्फ सिद्धार्थ न्यू विजय नगर में अपनी दादी के पास रहता था। वह एलएलबी अंतिम वर्ष का छात्र है। उसके माता पिता दिल्ली में रहते हैं। पिता आजाद सिंह दिल्ली की रोहिणी कोर्ट एडवोकेट हैं। अंकुश का एक और छोटा भाई है।

अंकुश शाम को दो दोस्तों के साथ वैश्य कॉलेज परिसर में स्थित अग्रसेन स्टेडियम में आया था, जहां तीनों प्रेक्टिस कर रहे थे। इस दौरान दो युवक दीवार फांद कर आए और अंकुश पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी। उसके कमर, गर्दन और सिर में पीछे से चार गोली मारी गई। उसकी मौके पर ही मौत हाे गई। गोलियां चलने से आसपास प्रेक्टिस कर रहे दो युवकों ने इधर उधर भाग कर अपनी जान बचाई। भागते समय हमलावरों ने स्टेडियम के चौकीदार शिवकुमार की तरफ भी पिस्तौल तानी। जिस पर चौकीदार रास्ते से हट गया। वारदात के बाद बदमाश बाइक पर फरार हुए हैं। सूचना मिलने पर डीएसपी महेश कुमार, इंस्पेक्टर बलवंत सिंह, एफएसएल एक्सपर्ट डाॅ. सरोज दहिया मौके पर पहुंचे और छानबीन शुरू कर दी। मौके से नौ खोल बरामद किए गए हैं जबकि अंकुश को चार या पांच गोली लगी हैं। देर रात परिजन पुलिस के पास पहुंचे।

शव को पीजीआई रखवाया गया है। जहां कोविड टेस्ट कराने के बाद शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। शिवाजी कालोनी पुलिस और सीआईए टीम मामले की छानबीन में जुटी हुई हैं। सीआईए टीम ने भी घटनास्थल का जायजा लिया। आसपास के लोगों से बदमाशों को लेकर पूछताछ की गई है। पुलिस टीम ने आसपास के कैमरे खंगाले हैं, जिनसे सुराग मिलने की उम्मीद है।

हमलावरों ने अंकुश के साथी पर भी तानी पिस्तौल

नितेश ने पुलिस को बताया कि शाम के समय वह, सिद्धार्थ और कुकी एक ही बुलेट बाइक पर आए थे। वह और सिद्धार्थ दंड बैठक लगा रहे थे। उसने अपना राउंड पूरा कर लिया जबकि सिद्धार्थ अभी भी दंड बैठक लगा रहा था। अचानक गोलियां चलने लगी। मैंने और कुकी ने भागकर जान बचाई। कुकी दीवार फांदकर भागा तो वह गेट की कुंडी खोलकर भागा। उसने भी नीले रंग की टी शर्ट पहनी हुई थी जो उसने निकाल दी। बाद में कुकी ने आकर बताया कि अंकुश की मौत हो गई है। बदमाशों ने नितेश पर भी पिस्तौल तान कर उसे रास्ते से हटाया। इसके बाद पुलिस आ गई।

दो साथियों के साथ आया था स्टेडियम

जांच में पता चला कि अंकुश के साथ जनता कालोनी का रहने वाला नितेश भी था। वह एलएलबी का छात्र है। नितेश ने मृतक की पहचान विजय नगर निवासी सिद्धार्थ उर्फ अंकुश के रूप में की। नितेश ने बताया कि शाम के समय वह अपने दोस्त सिद्धार्थ और विजय नगर निवासी कुकी के साथ स्टेडियम में घूमने के लिए आया था। इसी दौरान दो हमलावरों ने सिद्धार्थ पर फायरिंग कर दी थी। उन्होंने भी वहां से भागकर अपनी जान बचाई और फिर घर चले गए थे। वह कोर्ट में अधिवक्ता मोहित वर्मा के पास आता था।

रेकी कर वारदात

अब तक जांच पड़ताल में सामने आया है कि बदमाश इस बात के इंतजार में थे कि अंकुश स्टेडियम में आए। काेराेना के चलते स्टेडियम खाली पड़ा रहता है। बदमाशोें ने इस बात का फायदा उठाया और रेकी कर हमला किया।

आरोपितों का जल्द सुराग लगाया जाएगा

युवक को गोली मारने की सूचना पर पुलिस ने मौके का निरीक्षण किया। मृतक की शिनाख्त हो गई है। स्टेडियम में तीन युवक प्रैक्टिस कर रहे थे। मामले की जांच पड़ताल की जा रही है। जल्द ही आरोपितों का सुराग लगा लिया जाएगा। -महेश कुमार, डीएसपी

और पढ़ें
Next Story