Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

माइनस 15 डिग्री तापमान में विश्व की सबसे छोटी माउंटेनियर ने केदारकंठा पर लहराया तिरंगा, जानें कौन हैं वो

16 मई 2018 को शिवांगी पाठक ने 16 साल की उम्र में माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहरा कर सबसे छोटी माउंटेनियर होने का विश्व रिकॉर्ड बनाया था।

माइनस 15 डिग्री तापमान में विश्व की सबसे छोटी माउंटेनियर ने केदारकंठा पर लहराया तिरंगा, जानें कौन हैं वो
X

केदारकंठा पर तिरंगा फहरातीं पर्वतारोही शिवांगी पाठक। 

हरिभूमि न्यूज : हिसार

विश्व विख्यात पर्वतारोही शिवांगी पाठक ने इस बार भारत का संविधान दिवस अपने अलग अंदाज में उत्तराखंड की एक ऊंची चोटी केदार कंठा पर भारत की आन बान शान तिरंगा को लहरा कर मनाया। कोरोना नामक महामारी के चलते शिवांगी पिछले 9-10 महीनों से घर पर ही रह कर अपनी पढ़ाई और अभ्यास करती रहीं।। इस दौरान उसकी कोच रिंकू पानू ने उसे मानसिक और शारीरिक तौर पर और भी मजबूत किया।

शिवांगी को विश्व की सबसे छोटी माउंटेनियर होने का गौरव

ज्ञात रहे कि 16 मई 2018 को शिवांगी ने 16 साल की उम्र में माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहरा कर सबसे छोटी माउंटेनियर होने का एक विश्व रिकॉर्ड बनाया था और उसके बाद मात्र 111 दिन में उसने दक्षिण अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी माउंट किलिमंजारो पर और फिर यूरोप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस पर भी तिरंगे को लहरा कर भारत का नाम विश्व में ऊंचा किया। शिवांगी को बाल शक्ति पुरस्कार से भी राष्ट्रपति नवाज चुके हैं और लिम्का बुक में भी शिवांगी का नाम दर्ज है। शिवांगी बीए तृतीय वर्ष की छात्रा है जो खानपुर विश्वविद्यालय से अपनी पढ़ाई कर रही हैं। शिवांगी हिसार की सोसायटी राजदरबार स्पेस में रहती है।

बेटा-बेटी के फर्क को खत्म किया : आरती

शिवांगी के माता आरती पाठक व पिता राकेश पाठक ने बताया कि उन्होंने अपनी बेटी शिवांगी का एक शिष्य, पुत्री व मित्र की तरह पालन किया है व समाज में बेटा-बेटी के फर्क को खत्म किया है। शिवांगी पाठक ने इससे पूर्व भी कई सफलताएं हासिल की हैं और इसके साथ ही उच्च शिक्षा भी ग्रहण कर रही हैं। शिवांगी पाठक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी सम्मानित किया हुआ है।


Next Story