Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

साइबर क्राइम थाने में एफआईआर करवाने को अभी करना होगा इंतजार

एडीजीपी ने भेजा उच्च अधिकारियों को पत्र, सरकार और न्यायालय से चल रही है कोर्ट की बातचीत, किस कोर्ट में होगी साइबर क्राइम थाने के मामलों की सुनवाई, इस पर होना है फैसला।

साइबर क्राइम थाने में एफआईआर करवाने को अभी करना होगा इंतजार
X

संदीप खिरवार, एडीजीपी रोहतक रेंज 

विजय अहलावत : रोहतक

रोहतक रेंज में बेशक साइबर क्राइम थाना शुरू हो गया है। लेकिन अभी नए थाने में आप अपनी शिकायत दर्ज नहीं करवा सकेंगे। इसके लिए आपको थोड़ा और इंतजार करना होगा। अभी तक थाने में आने वाले मामलों की सुनवाई के लिए अदालत तय नहीं हो सकी है। जिसकी वजह से अभी साइबर थाना में एफआईआर नहीं की जा सकेंगी। एडीजीपी संदीप खिरवार ने हेडक्वार्टर के माध्यम से पत्राचार कर कोर्ट तय करने के लिए कहा है। सम्भावना हैं कि मई माह तक कोर्ट फाइनल हो सकती है।

समस्या यह है कि रोहतक में खोला गया यह थाना रेंज स्तर का है। जिसमें रोहतक, सोनीपत, झज्जर, भिवानी और चरखी दादरी जिला शामिल हैं। अगर दूसरे किसी जिला के व्यक्ति का केस थाने में दर्ज किया जाएगा तो उसकी कोर्ट रोहतक में रहेगी या उसके जिले में स्थित कोर्ट में मामले की सुनवाई होगी। इस पर निर्णय होना बाकि है। तब तक के लिए साइबर थाना टीम द्वारा इंवेस्टिंगेशन का कार्य किया जाएगा।

अपने क्षेत्र के थाने में कराएं एफआईआर

अभी आप केवल अपने सम्बंधित क्षेत्र के थाना में ही साइबर क्राइम से सम्बंधित एफआईआर करवा सकते हैं। जरूरत पड़ने पर आपका मामला जांच के लिए साइबर क्राइम टीम के पास भेजा जाएगा। आप हरियाणा पुलिस की साइट पर ऑनलाइन भी एफआईआर करवा सकते हैं। जिसकी कॉपी मिलने के बाद आपको सम्बंधित थाना में संपर्क करना होगा।

31 मार्च को एडीजीपी ने किया थाने का शुभारंभ

सेक्टर 14 में रेंज के लिए बनाए गए थाने का शुभारम्भ एडीजीपी संदीप खिरवार और रोहतक एसपी राहुल शर्मा ने किया। उन्होंने 31 मार्च को ही थाने का उद्घाटन कर यहां दो इंस्पेक्टर समेत 40 कर्मचारियों को तैनात किया है। जिन्हें बेहतर एवं आधुनिक उपकरण मुहैया करवाए गए हैं।

थाने के लिए कोर्ट फाइनल नहीं : एडीजीपी

अभी कुछ दिनों तक नए साइबर थाना में एफआईआर नहीं हो सकेंगी। थाना के लिए कोर्ट फाइनल नहीं हो पाई है। उच्च अधिकारियों के माध्यम से बातचीत चल रही है। जल्द ही थाना में एफआईआर करने की अनुमति मिल जाएगी। तब तक शिकायकर्ता अपने निकटवर्ती थाना में शिकायतें दे सकते हैं। -संदीप खिरवार, एडीजीपी रोहतक रेंज

Next Story