Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दुल्हन लाने की तैयारी में थी बारात, ऐसा क्या हुआ कि पुलिस ने रूकवा दी शादी

सोमवार को पड़तल से बारात गांव जाटुवास जानी थी, लेकिन परिवारजनों के लिखित बयान लेकर पुलिस द्वारा आवश्यक कार्रवाई की गई।

दुल्हन लाने की तैयारी में थी बारात, ऐसा क्या हुआ कि पुलिस ने रूकवा दी शादी
X

गांव पड़तल में आवश्यक कार्रवाई जिला संरक्षण एवं बाल विवाह अधिकारी सरिता शर्मा व टीम सदस्य।

हरिभूमि न्यूज : नारनौल

जिला सरंक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी की टीम ने गांव पड़तल में शादी योग्य उम्र न होने के बावजूद एक युवक की रचाई जा रही शादी को रूकवाया है। सोमवार को पड़तल से बारात गांव जाटुवास जानी थी, लेकिन परिवारजनों के लिखित बयान लेकर आवश्यक कार्रवाई की गई।

जानकारी मुताबिक गांव पड़तल में सोमवार को करीब 20 वर्षीय युवक की शादी रचाई जा रही थी। इसकी सूचना किसी ने पुलिस को दे दी। सूचना पाकर मौके पर जिला संरक्षण एवं बाल विवाह अधिकारी सरिता शर्मा, लेडी कांस्टेबल सरिता एवं कंप्यूटर ऑपरेटर प्रवीण कुमार टीम के रूप में गांव पड़तल पहुंचे तथा संबंधित परिवार से आवश्यक पूछताछ की। जांच में लड़के की उम्र 20 वर्ष होना ही पाया गया, जबकि कानून अनुसार शादी के लिए युवक की आयु कम से कम 21 वर्ष एवं युवती की आयु 18 वर्ष पूरी होना अनिवार्य है।

कम आयु के आधार पर ही उक्त जिला संरक्षण एवं बाल विवाह अधिकारी सरिता शर्मा ने यह शादी रूकवा दी। आवश्यक कार्रवाई करते हुए उन्होंने परिवारजनों के बयान दर्ज किए और लिखित में दिया कि अब वह इस विवाह को नहीं करेंगे। जिला संरक्षण एवं बाल विवाह अधिकारी सरिता शर्मा ने बताया कि शादी-विवाह के लिए भी कानून बने हुए हैं। लोगों को इन कानूनों का पालन करने के लिए जागरूक होना चाहिए। बाल विवाह करना निषेध है और यह कानूनन अपराध के दायरे में आता है। जो कोई ऐसा करेगा, उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर दंडित किया जाएगा।

Next Story