Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केंद्रीय मंत्री ने खोला खजाना : हरियाणा को दी पांच हाईवे की सौगात, नितिन गडकरी ने की ये घोषणाएं

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि जो काम हरियाणा सरकार कहेगी, शपथ लेता हूं कि वो करूंगा। 40 साल से आज तक कोई ऐसा नहीं मिला जो कह सके की मैनें जो बोला वो ना किया हुआ।

केंद्रीय मंत्री ने खोला खजाना : हरियाणा को दी पांच हाईवे की सौगात, नितिन गडकरी ने की ये घोषणाएं
X

सड़क परियोजनाओं को लोकार्पित करते केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी साथ में सीएम मनोहर लाल, डिप्टी सीएम एवं अन्य।

हरिभूमि न्यूज : सोनीपत

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि विकास के लिए 4 चीजे जरूरी हैं- पानी, पावर, ट्रांसपोर्ट, कम्युनिकेशन। अभी तक 50 लाख करोड़ के काम किए हैं। पैसों की कमी नहीं आई, मुझे पता है कि पैसे कैसे आते हैं। जो काम हरियाणा सरकार कहेगी, शपथ लेता हूं कि वो करूंगा। 40 साल से आज तक कोई ऐसा नहीं मिला जो कह सके की मैनें जो बोला वो ना किया हुआ।

नितिन गडकरी सोमवार को सेक्टर 15 स्थित एचएसवीपी ग्राउंड में 2871.80 करोड़ रुपए की पांच सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण करने पहुंचे थे। कार्यक्रम में अपने भाषण से पहले उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल, उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, सांसद रमेश कौशिक, अरविंद शर्मा एवं विधायकों की उपस्थिति में पांच सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण किया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जब अटल बिहारी वाजपेई जी देश के प्रधानमंत्री थे तो वे महाराष्ट्र में मंत्री थे। वाजपेयी जी ने उन्हें बुलाया और कहा कि गांवों में भी सड़के बनाओ, इसके बाद उन्होंने एक रिपोर्ट बनाई थी।

हालांकि रिपोर्ट पर अधिकारियों ने कहा की गांवों में काम केवल प्रदेश सरकार कर सकती है। उस समय इस योजना का नाम पहले अटल ग्राम सड़क योजना रखना था, लेकिन अटल बिहारी वाजपेयी ने अपने नाम से योजना का नाम ना रखने के लिये कहा, इसके बाद ही प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना नाम दिया था। योजना के तहत उस समय साढ़े 6 लाख गांव में से 3 लाख से अधिक गांवों को सड़कों से जोड़ा गया था। नितिन गडकरी ने कहा कि रोड के बिना स्मृद्धि नहीं आती। जिस तरह से हरियाणा में हाइवे का निर्माण कार्य जारी है, उससे स्पष्ट है कि आने वाले समय में हरियाणा देश का प्रथम राज्य बनेगा।

ये की घोषणाएं

कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री की दिल्ली-देहरादून नेशनल हाईवे को जींद, गोहाना, सोनीपत शामली के जरिए कनेक्ट करने की मांग को स्वीकार किया। गडकरी ने घोषणा की कि 600 करोड़ की लागत से 22 किलोमीटर की फोरलेन सड़क बनाएंगे। इसके अलावा उन्होंने चौटाला गांव से शामली तक सड़क बना कर दिल्ली देहरादून नेशनल हाइवे से जोड़ने की भी घोषणा की, लेकिन इसके लिए प्रोजेक्ट भेजने के लिये कहा। इसके अलावा बस पोर्ट के बारे में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि फाइव स्टार होटल जैसा बस पोर्ट बना देंगे, आप जगह दो। सोनीपत में बस पोर्ट बनाएंगे, प्रोजेक्ट भेज दीजिए। इसके अलावा उन्होंने सीएम के एयर टैक्सी चलाने के प्रस्ताव पर स्पष्ट किया कि वे दिल्ली से पानीपत तक एयर टैक्सी चलाना चाहते हैं, जोकि 250 लोगों को लेकर सफर कर सकेगी। गडकरी ने एनएच-44 पर वाहनों के अधिक दबाव पर बयान दिया कि वे शपथ लेते हैं कि 2 सालों में इस हाईवे के पैरलल इतने रोड बना देंगे कि इस हाइवे पर 50 प्रतिशत ट्रैफिक कम हो जाएगा। एनएच-44 के विस्तारीकरण के कार्य को भी उन्होंने 1 जून तक पूरा करने की बात कही।

सीएम और डिप्टी सीएम ने रखी अपनी बातें

कार्यक्रम की अध्यक्षता सीएम मनोहर लाल ने की। अपने अध्यक्षीय भाषण में सीएम मनोहर लाल ने कहा कि सभी जिले में इस समय नेशनल हाइवे हैं। आने वाले समय में जिन रोप-वे की बात केंद्रीय मंत्री करते हैं, उनमें से 1-2 रोप-वे हरियाणा को भी मिलेंगे। सीएम ने एयर टैक्सी का प्रोजेक्ट हरियाणा से शुरू करने की मांग उठाई। दूसरी ओर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने पांच मांगें रखते हुए कुछ सड़क परियोजनाओं को एनएचएआई के अंडर लेने की मांग रखी। वहीं एनसीआर में लॉजीस्टिक हब भी तैयार करने की मांग रखी।

इन परियोजनाओं का किया लोकापर्ण

- जींद-गोहाना तक दो लेन नेशनल हाईवे एनएच-352 ए (50.505 किलोमीटर, लागत 132.55 करोड़ रुपये)

- भिवानी-मुंढाल-जींद तक दो लेन एनएच-709 ए (61.98 किलोमीटर, लागत 183 करोड़ रुपये)

- झज्जर-लोहारू तक दो लेन एनएच-334 बी (97.86 किलोमीटर, लागत 136.25 करोड़ रुपये)

- यूपी-हरियाणा बॉर्डर-रोहणा तथा चार लेन एनएच-334 बी (पीकेजी-1)(40.220 किलोमीटर, 1020 करोड़ रुपये)

- एनएच-44 दिल्ली मुकरबा चौक से पानीपत तक के अंतर्गत बहालगढ़ से पानीपत तक के 08 लेन मार्गी कार्य (46.500 किलोमीटर, लागत 1400 करोड़ रुपये)

और पढ़ें
Next Story