Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भगवान राम को लेकर दो युवकों ने फेसबुक पर की अमर्यादित टिप्पणी, अयोध्या के दशरथ पुत्र ने दर्ज कराया मुकदमा

आरोप है कि जींद के रहने वाले जंग बहादुर बूरा जो कि पेशे से शिक्षक है व पंजाब के संगरुर वासी मनीष चौहान ने भगवान राम के खिलाफ अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया था।

two youths made inappropriate remarks about lord ram on facebook, dasaratha son of ayodhya filed suit
X

फेसबुक पर भगवान राम को लेकर दो युवकों ने की अमर्यादित टिप्पणी

हरिभूमि न्यूज : अंबाला

भगवान राम ( Lord Ram ) के खिलाफ फेसबुक ( Facebook) पर अमर्यादित टिप्पणी करने के आरोप में पुलिस ने दो लोगों पर भावनाएं भड़काने का केस दर्ज किया है। मजे की बात है कि इस मामले में परिवादी ने भगवान राम चंद्र को शिकायतकर्ता बताया है। बकायदा एफआईआर में भगवान राम के पिता राजा दशरथ और उनका पता अयोध्या लिखा गया है। अब पुलिस आरोपियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने की बात कह रही है।

फेसबुक पोस्ट पर की टिप्पणी

महर्षि वाल्मीकि अनुसंधान परिषद के निदेशक राघव संजीव घारु ने 10 मई 2021 को भगवान राम को लेकर अपने फेसबुक अकाउंट पर एक पोस्ट डाली थी। उनका आरोप है कि इस पोस्ट पर जींद के रहने वाले जंग बहादुर बूरा जो पेशे से शिक्षक है और पंजाब के संगरुर वासी मनीष चौहान ने भगवान राम के खिलाफ अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया था। आरोपियों ने भगवान राम को मुर्दाबाद भी कहा था। साथ ही यह भी कहा कि उनकी आठ हजार पत्नियां थी।

इसके अलावा भी आरोपियों ने भगवान राम को लेकर अश्लील टिप्पणियां की, जिस कारण श्रद्धालुओं की भावनाएं आहत हुई। संजीव ने बताया कि आरोपियों ने उसे जान से मारने की भी धमकी दी। तब संजीव ने भगवान राम के हवाले से मामले की शिकायत पुलिस को दी। शिकायत में उन्होंने भगवान राम को शिकायकर्ता बताया जबकि खुद को उनका प्रतिनिधि करार दिया। करीब पांच महीने तक शिकायत पर चली जांच के बाद अब नारायणगढ़ पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

यमुनानगर पुलिस ने नहीं की कार्रवाई

इससे पहले जय भवानी सेना की ओर से 11 मई 2021 को यमुनानगर के बुड़िया थाने में आरोपियों के खिलाफ शिकायत दी गई थी। मगर पुलिस लंबे समय तक उनकी शिकायत जांच के नाम पर लटकाती रही। इसके बाद राघव संजीव घारु की ओर से साइबर क्राइम पुलिस को शिकायत भेजी गई थी। तब जांच के बाद पुलिस ने डीडीए की राय लेने के बाद अब जंग बहादुर बूरा व मनीष चौहान के खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने अभी धार्मिक भावनाएं भड़काने के साथ आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया है।

Next Story