Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

टीकरी बाॅर्डर पर पंजाब के दो और किसानों की मौत

मृतकों की पहचान करीब 60 वर्षीय सुखविंदर निवासी मोगा और करीब 70 वर्षीय लक्खा सिंह निवासी संगरूर पंजाब में हुई है।

टीकरी बाॅर्डर पर पंजाब के दो और किसानों की मौत
X

इस ट्रॉली में मिला था सुखविंदर का शव।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

कृषि कानूनों के खिलाफ टीकरी बार्डर पर चल रहे आंदोलन में किसानों की मौत होने का सिलसिला भी नहीं थम रहा। एक किसान द्वारा आत्महत्या करने के अलावा रविवार को दो और किसान मृत अवस्था में मिले। दोनों पंजाब के रहने वाले थे। इनकी मौत का कारण स्पष्ट नहीं है। हार्ट अटैक की आशंका जताई जा रही है।

दरअसल, आंदोलनकारियों ने 27 नवंबर को किसानों ने यहां पड़ाव डाला था। आंदोलन में अपने हक के लिए संघर्ष कर रहे इन किसानों की मौसम और गिरते स्वास्थ्य ने भी खूब परीक्षा ली है। तबीयत बिगड़ने के कारण काफी किसानों की मौत हो चुकी है। रविवार को भी दो किसानों की सांस थम गई। इनकी पहचान करीब 60 वर्षीय सुखविंदर निवासी मोगा पंजाब और करीब 70 वर्षीय लक्खा सिंह निवासी संगरूर पंजाब में हुई है। दोनों पिछले काफी समय से आंदोलन से जुड़े हुए थे। लक्खा सिंह बाईपास तो सुखविंदर एमआईई में ठहरे हुए थे। बताते हैं कि दोनों रात को खाना खाकर सो गए थे। सुबह उठे नहीं। साथी किसानों ने देखा तो इनकी सांसें नहीं चल रही थी। इसके बाद इन्हें अस्पताल में ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पुलिस ने परिजनों को सूचना दी। फिलहाल शव नागरिक अस्पताल के शवगृह में हैं। परिजनों के आने के बाद पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू होगी।


Next Story