Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इकलौता बेटा था प्रकाश : नौकरी न मिलने से परेशान बीटेक पास युवक ने लगाई फांसी

प्रकाश दो बहनों का इकलौता भाई था। वह बीटेक पास कर चुका था और लगातार नौकरी तलाश कर रहा था। कामयाब होकर परिवार का सहारा बनना चाहता था। काफी प्रयास करने के बाद भी सही नौकरी न मिलने से वह तनाव में था।

इकलौता बेटा था प्रकाश : नौकरी न मिलने से परेशान बीटेक पास युवक ने लगाई फांसी
X

प्रकाश के शव को शवगृह में ले जाते परिजन व स्टाफ।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

रोजगार ना मिलने से युवा तनावग्रस्त हो रहे हैं। नौकरी न मिलने की हताशा युवाओं में इस कद्र बढ़ रही है कि वे आत्महत्या जैसा कदम उठाने से भी पीछे नहीं हट रहे। बहादुरगढ़ में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। यहां लाइनपार क्षेत्र के निवासी एक युवक ने फंदा लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली। बीटेक कर चुका यह युवक परिवार का इकलौता पुत्र था। उसकी मौत से परिजनों पर दु:खों का पहाड़ टूट पड़ा है।

मृतक की पहचान करीब 25 वर्षीय प्रकाश के रूप में हुई है। वह लाइनपार का रहने वाला था। जानकारी के अनुसार, प्रकाश शुक्रवार की शाम को अपने मकान में था। देर सायं उसका शव फंदे पर लटका हुआ था। परिजनों ने देखा तो तुरंत उसे संभाला। अस्पताल ले गए तो चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही लाइनपार थाने से पुलिस अस्पताल गई और आवश्यक कार्रवाई शुरू की। युवक के मकान में जाकर भी तफ्तीश की गई। शनिवार की सुबह नागरिक अस्पताल में पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया गया। युवक द्वारा फंदा लगाए जाने की वजह मानसिक तनाव बताया जा रहा है।

प्रकाश दो बहनों का इकलौता भाई था। वह बीटेक पास कर चुका था और लगातार नौकरी तलाश कर रहा था। कामयाब होकर परिवार का सहारा बनना चाहता था। काफी प्रयास करने के बाद भी सही नौकरी न मिलने से वह तनाव में था। शायद इसी वजह से उसने यह कदम उठा लिया। बाकी पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का भी इंतजार कर रही है। लाइनपार थाने से मामले के जांच अधिकारी राजेंद्र सिंह ने कहा कि परिजनों ने कहा है कि युवक मानसिक रूप से परेशान था। उनके बयान के आधार पर मामले में 174 के तहत कार्रवाई की गई है। पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया गया है।


Next Story