Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गंदे पानी की निकासी से परेशान ग्रामीणों ने निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज पर जड़ा ताला, लगाया जाम

ग्रामीणों ने बताया कि जिस जगह मेडिकल कालेज बनाया जा रहा है वहीं गंदे पानी की निकासी होती थी। गांव में जो सीवरेज लाइन है वो ओवरफ्लो हो चुकी है और गलियों में गंदा पानी भरने लगा है। इसके बार में प्रशासनिक अधिकारियों से कई बार मिल चुके हैं लेकिन सिवाए आश्वासनों के उन्हें कुछ नहीं मिला है।

गंदे पानी की निकासी से परेशान ग्रामीणों ने निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज पर जड़ा ताला, लगाया जाम
X

मेडिकल कॉलेज के सामने जाम लगाए हुए ग्रामीण।

हरिभूमि न्यूज. जींद

गांव हैबतपुर के ग्रामीणों ने वीरवार सुबह निर्माणाधीन मेडिकल कालेज पर ताला जड़ दिया और जाम लगा दिया। जाम लगाए ग्रामीणों का कहना था कि गांव की समस्याओं की तरफ प्रशासन द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है जबकि यहां बनने वाले मेडिकल काॅलेज के लिए गांव ने ही 24 एकड़ जमीन मुफ्त में दी थी। गांव में जो गंदे पानी की निकासी थी वो इसी जमीन पर होती थी। जिस समय जमीन दी थी उस समय प्रशासन ने आश्वासन दिया था कि गांव में सीवरेज लाइन दबाई जाएगी और उसका कनेक्शन शहर की सीवरेज लाइन से कर दिया जाएगा।

प्रशासन ने गांव में सीवर की लाइन को डलवा दी लेकिन एक साल हो चुका है कि इस लाइन का कनेक्शन शहर की लाइन से नहीं किया गया है। जाम लगने की सूचना मिलने पर सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति का जायजा लिया। ग्रामीणों ने साफ कहा कि जब तक उनकी समस्या का स्थायी समाधान नहीं होता तब तक वो जाम नहीं खोलेंगे।

ग्रामीणों ने बताया कि जिस जगह मेडिकल कालेज बनाया जा रहा है वहीं गंदे पानी की निकासी होती थी। गांव में जो सीवरेज लाइन है वो ओवरफ्लो हो चुकी है और गलियों में गंदा पानी भरने लगा है। इसके बार में प्रशासनिक अधिकारियों से कई बार मिल चुके हैं लेकिन सिवाए आश्वासनों के उन्हें कुछ नहीं मिला है। गलियों में भरे गंदे पानी से यहां बीमारी फैलने का खतरा पैदा हो गया है। इसे लेकर पिछले दिनों ग्रामीणों ने प्रदर्शन भी किया था, उस समय अधिकारियों ने आश्वासन दिया था कि जल्द ही समाधान कर दिया जाएगा लेकिन अभी तक लाइन को जोडऩे का काम तक शुरू नहीं हुआ है। मजबूरन उन्हें मेडिकल कालेज के गेट पर ताला जड़ना पड़ रहा है।

ग्रामीणों के लामबंद होने की सूचना पाकर सदर थाना पुलिस, जनस्वास्थ्य व हुडा विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। अधिकारियों ने जल्द ही समस्या के समाधान का आश्वासन दिया। ग्रामीणों ने कहा कि जब तक उनके गांव के सीवरेज लाइन को शहर से नहीं जोड़ा जाता तब तक वह ताला नहीं खोलेंगे। गेट बंद होने के चलते मेडिकल कालेज में चल रहे निर्माण कार्य प्रभावित हो गया।

Next Story