Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फर्जी जीएसटी कंपनी बनाकर करते थे लेन-देन, दो गिरफ्तार

पुलिस ने दोनों को अदालत में पेश किया, जहां से दोनों को पूछताछ के लिए 5 दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया गया।

फर्जी जीएसटी कंपनी बनाकर करते थे लेन-देन, दो गिरफ्तार
X

आरोपितों की मौजूदगी में वारदात की जानकारी देते डीएसपी।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

फर्जी दस्तावेजों के आधार पर फर्जी लेनदेन के मामले का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से फर्जी वोटर कार्ड, पैन कार्ड तथा चैक बुक आदि बरामद की गई हैं। डीएसपी पवन कुमार ने बताया कि सीआईए वन बहादुरगढ़ की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर यह कार्यवाही की है।

सीआईए प्रथम को गुप्त सूचना मिली थी कि मोहित निवासी लालचंद कॉलोनी ने नकली नामों के पहचान पत्र, वोटर कार्ड व पैन कार्ड इत्यादि नकली तैयार करके सेंट्रल बैंक बहादुरगढ़ में फर्जी दस्तावेजों से करंट अकाउंट खुलवा रखे हैं और जीएसटी की फर्जी कंपनियां तैयार करके इन खातों में फर्जी लेन-देन करता है। जो उसने सेंट्रल बैंक बहादुरगढ़ में अलग-अलग नामों से खाता खुलवा रखे हैं। इन्हीं नामों से उसने फर्जी कंपनियां भी बना रखी है। बैंक के अकाउंट ओपनिंग फॉर्म पर उसने स्वयं के हस्ताक्षर भी कर रखे हैं। पुलिस ने मोहित को काबू कर उसके कब्जे से अलग-अलग नामों के चार वोटर कार्ड, चार पैन कार्ड व चार चैक बुक बरामद की। प्रारंभिक पूछताछ में उसने बताया कि इस काम में सोहन निवासी अलीपुर दिल्ली भी शामिल है। जिसके बाद पुलिस टीम ने सोहन को भी काबू किया। उसके कब्जे से भी दो पैन कार्ड व दो वोटर कार्ड बरामद हुए।

दोनों के खिलाफ थाना शहर में अपराधिक मामला दर्ज किया गया। ये दोनों बरामद फर्जी दस्तावेजों के संबंध में कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सके। इनसे गहनता से पूछताछ की जा रही है। शुरूआती जांच में फर्जी खातों तथा फर्जी कंपनियां तैयार करके फर्जी तरीके से करोड़ों रुपए का लेन-देन करने बारे जानकारी मिली है। फिलहाल जीएसटी की तीन फर्जी कंपनियां तथा सेंट्रल बैंक में चार खाते खोले जाने बारे खुलासा हुआ है। इन फर्जी कंपनियों से आरोपितों ने अलग-अलग लोगों के फर्जी बिल काटे हैं। जिसमें लाखों रुपए का गबन किया गया। पुलिस ने दोनों को अदालत में पेश किया, जहां से दोनों को पूछताछ के लिए 5 दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया गया। डीएसपी पवन कुमार के अनुसार पूछताछ में इसके संबंध में और खुलासा होने की संभावना है।

Next Story