Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसानों की रिहाई के लिए सिरसा में टोल और रोड किया जाम, आमरण अनशन पर बैठे बलदेव सिंह की तबीयत बिगड़ी

संयुक्त किसान मोर्चा ने आज के जाम के बाद प्रशासन व सरकार पर दबाव बनाने की रणनीति के तहत 23 जुलाई को सिरसा शहर को दो घंटे बंद करने का फैसला लिया है।

किसानों की रिहाई के लिए सिरसा में टोल और रोड किया जाम, आमरण अनशन पर बैठे बलदेव सिंह की तबीयत बिगड़ी
X

लघुसचिवालय के प्रवेश द्वार पर अनशन पर बैठे किसान नेता बलदेव सिंह सिरसा। फाइल फोटो

हरिभूमि न्यूज. सिरसा

हरियाणा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर रणबीर सिंह गंगवा की गाड़ी पर हुए हमले की घटना में देशद्रोह जैसी संगीन धाराओं के तहत गिरफ्तार किए गए पांच साथियों की मांग को लेकर किसानों ने सिरसा के दो टोल प्लाजों के साथ-साथ पंजुआना के नजदीक नेशनल हाईवे पर दो घंटे के लिए जाम लगाया। संयुक्त किसान मोर्चा ने आज के जाम के बाद प्रशासन व सरकार पर दबाव बनाने की रणनीति के तहत 23 जुलाई को सिरसा शहर को दो घंटे बंद करने का फैसला लिया है। हरियाणा किसान मंच के प्रदेशाध्यक्ष प्रह्लाद सिंह भारूखेड़ा के मुताबिक सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक शहर के दुकानदारों से अपनी-अपनी दुकानें बंद कर किसानों के धरने में बैठने की अपील की जाएगी। उन्होंने बताया कि 24 जुलाई को हरियाणा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर रणबीर सिंह गंगवा के आवास का घेराव किया जाएगा, जिसमें सिरसा से बड़ी संख्या में किसान भाग लेंगे।

बलदेव सिंह का आमरण अनशन जारी, सीएमओ पहुंचे मौके पर

बरनाला रोड पर लघु सचिवालय के मुख्य द्वार के समक्ष किसान नेता बलदेव सिंह आमरण अनशन बुधवार को चौथे दिन भी जारी रहा। बलदेव सिंह के स्वास्थ्य में गिरावट आ रही है। स्वास्थ्य विभाग लगातार इस पर नजर रखे हुए हैं। बुधवार सुबह नागरिक अस्पताल के सिविल सर्जन डा. मनीष बंसल मौके पर पहुंचे और उपचार लेने व अनशन समाप्त करने की अपील की। लेकिन बलदेव सिंह ने कहा कि जब कि गिरफ्तार किसानों की रिहाई नहीं होती और वे अनशन स्थल पर नहीं पहुंचते उनका आमरण अनशन जारी रहेगा। उधर, नागरिक अस्पताल के सिविल सर्जन डा. मनीष बंसल ने बताया कि बलदेव सिंह के स्वास्थ्य पर विभाग की टीम नजर रखे हुए हैं। वजन, शूगर व बीपी डाउन हुआ है। यूरीन में भी इंफेक्शन है। रात को किसानों ने रिपोर्ट मांगी थी वो उपलब्ध करवा दी हैं। पहले की रिपोर्ट भी आज भिजवा दी जाएगी। अनशनकारी किसान से खाने-पीना शुरू करने की अपील की है लेकिन वे नहीं माने।



Next Story