Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rakesh Tikait ने दिया विवादित बयान : आयकर वाले छापा मारने आएं तो पहले बक्कल तार दो, फिर गोला लाठी दे दो

राकेश टिकैत ने नया नारा देते हुए कहा कि सभी किसानों को जयराम और जय भीम का नारा देना चाहिए। इसी नारे में सबका भला हो सकता है।

Rakesh Tikait ने दिया विवादित बयान : आयकर वाले छापा मारने आएं तो पहले बक्कल तार दो, फिर गोला लाठी दे दो
X

महम में संबोधित करते किसान नेता राकेश टिकैत।

हरिभूमि न्यूज : महम ( रोहतक)

महम के ऐतिहासिक चौबीसी के चबूतरे पर किसान महापंचायत का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता अंबावता के प्रधान अनिल नांदल उर्फ बल्लू प्रधान ने की। महापंचायत में संयुक्त किसान मोर्चा के नेता राकेश टिकैत ने मुख्य रूप से शिरकत की। उनको किसान के औजार के रूप में काम आने वाली जेली भेंट कर सम्मानित किया गया। इस दौरान राकेश टिकैत ने एक विवादित बयान दे दिया। उन्होंने कहा कि अबकी बार अगर उनके क्षेत्र में किसी के घर या कार्यालय पर आयकर विभाग वाले छापे मारने आएं तो उनको वहीं बैठा लो और पहले बक्कल तारो फिर उनको गोला लाठी दे दो। किसान आंदोलन में जो भी किसानों की मदद कर रहा है सरकार उसी परआयकर के छापे मारकर डरा रही है।

जयराम और जय भीम का नारा देना चाहिए

राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार को निशाने पर लेते हुए तीन कृषि कानूनों काे काले कानून करार देते हुए कहा कि सरकार ये न समझे कि किसान गर्मी में आंदोलन छोड़ कर चले जाएंगे। किसान जब तक सरकार कानून वापिस नहीं लेती तब तक इसी तरह दिल्ली की सड़कों पर जमे रहेंगे। उन्होंने कहा कि सभी किसानों को जयराम और जय भीम का नारा देना चाहिए। इसी नारे में सबका भला हो सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार तीन कृषि कानून लागू करके किसानों को जमीन रहित करना चाहती है। अगर ये कानून लागू हुए तो किसानों को फसल औने पौने दामों पर बेचनी पड़ेगी। किसान को सही भाव न देकर किसान को कर्जा देने की एक सोची समझी चाल है। उन्होंने कहा कि एमएसपी गारंटी का बिल सरकार को बनाना होगा। इसके अलावा अन्य मुद्दों को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा कमेटी में शामिल सदस्यों से बात करनी होगी।

26 मार्च को होगा भारत बंद

राकेश टिकैत ने किसानों से आह्वान किया कि तीन कृषि कानूनों के विरोध में 26 मार्च को पूर्ण भारत बंद रहेगा। जिसमें सड़क, रेल व बाजार भी बंद कराए जाएंगे। उन्होंने कहा की जो सांसद विधायक किसानों का साथ नहीं देगा उसका हाल हरियाणा के मुख्यमंत्री जैसा कर दिया जाएगा। राकेश टिकैत ने कहा कि केंद्र में बैठी सरकार पूंजीपतियों के लिए काम कर रही है। पूंजीपति सस्ते दामों पर किसान की फसल खरीद कर उन्हें अपने बड़े-बड़े गोदामों में भरकर मोटा मुनाफा कमाना चाहते हैं। लेकिन किसान व युवा वर्ग सरकार की नियत व नीतियों को पहचान चुका है। वह अपनी जमीन इन पूंजीपतियों के यहां गिरवी नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि आंदोलन नवंबर दिसंबर तक चल सकता है।


Next Story