Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आयुष्मान योजना के तीन साल पूरे, 30 सितंबर तक मुफ्त बनवा सकते हैं कार्ड

अब भी कई लोग ऐसे हैं जिन्होंने अभी तक अपना आयुष्मान कार्ड नहीं बनाया है। ऐसे लोगों के लिए 30 सितंबर तक का समय है। पात्र लोग अटल सेवा केंद्रों पर जाकर अपने निशुल्क कार्ड बनवा सकते हैं। इस योजना को लॉच हुए पूरे तीन वर्ष हो गए हैं।

आयुष्मान योजना के तीन साल पूरे, 30 सितंबर तक मुफ्त बनवा सकते हैं कार्ड
X

आयुष्मान योजना

हरिभूमि न्यूज: जींद

सरकार की आयुष्मान योजना जींद के लोगों के लिए सही में आयुष्मान साबित हो रही है। योजना के तीन साल पूरे हो गए हैं और इस दौरान जिला में कुल 9155 लोगों ने इस योजना का लाभ उठाते हुए अस्पतालों में निशुल्क उपचार करवाया। सरकार द्वारा इसके तहत 11.5 करोड़ रुपये वहन किए गए। अब भी कई लोग ऐसे हैं जिन्होंने अभी तक अपना आयुष्मान कार्ड नहीं बनाया है। ऐसे लोगों के लिए 30 सितंबर तक का समय है। पात्र लोग अटल सेवा केंद्रों पर जाकर अपने निशुल्क कार्ड बनवा सकते हैं। इस योजना को लॉच हुए पूरे तीन वर्ष हो गए हैं। जींद जिला के 10 प्राइवेट अस्पताल एवं 11 सरकारी अस्पताल पैनल में हैं। जहां पर आयुष्मान कार्ड योजना का लाभ उठाया जा सकता है। इस योजना के शूरू होने के तीन वर्षों के दौरान जिता जींद के 9155 लोगों ने मुफ्त इलाज व लाभ उठाया है।

आयुष्मान योजना के नोडल अधिकारी डा. अजय चालिया ने बताया कि एसईसीसी 2011 के सर्वे के अनुसार अभी भी जिला में दो लाख 39,906 लाभार्थियों के कार्ड नहीं बन पाए हैं। इन बचे हुए लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड जल्द से जल्द बनाने के लिए सकारात्मक प्रयास किए जा रहे हैं ताकि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का कोई भी पात्र व्यक्ति इसका लाभ लेने से वंचित न रहे। स्वास्थ्य विभाग द्वारा आशा कॉर्डिनेटर, खंड आशा कॉर्डिनेटर के माध्यम से सभी आशा फेसिलेटर एवं आशा वर्करों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं ताकि वे अपने-अपने क्षेत्र के तहत आने वाले बचे हुए लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनवाना सुनिश्चित कर सकें।अबतक एक लाख 52,121 आयुष्मान कार्ड बन चुके हैं।

सीएमओ डा. जेएस पूनिया ने कहा कि पहले आयुष्मान कार्ड के लिए कॉमन सर्विस सेंटर पर 30 रुपये प्रति कार्ड की दर से लिए जाते थे। 30 सितंबर तक सभी कॉमन सर्विस सेंटर पर ये सिुवधा मुफ्त उपलब्ध रहेगी। इसलिए पात्र लोग इस पखवाड़े के दौरान अपना कार्ड बनवाना सुनिश्चित करें ताकि कोई भी लाभार्थी कार्ड न होने की वजह से योजना का लाभ लेने से वंचित न रह जाए।

Next Story