Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Gangrape : वीडियो वायरल करने की धमकी देकर महिला के साथ गैंगरेप

पंचकूला निवासी महिला ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसकी 24 साल पहले शादी हुई थी। शादी के बाद उसका तलाक हो गया था। फिर एक व्यक्ति से पहचान हुई तो उसने अपने दोस्तों के साथ मिलकर उसके साथ दुष्कर्म किया।

Five boys kidnapped and gang raped girl in siwan Gangrape victim condition critical bihar crime news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हरिभूमि न्यूज : यमुनानगर

महिला ने एक व्यक्ति पर शादी का झांसा देकर दो साल तक गलत काम करने और फिर अपने दो साथियों के साथ मिलकर सामूहिक दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपित व्यक्ति व उसके दो अन्य साथियों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म करने समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया।

जानकारी के अनुसार पंचकूला निवासी महिला ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसका 24 साल पहले एक व्यक्ति के साथ शादी हुई थी। शादी के बाद उसकी अपने पति के साथ अनबन रहने लगी। जिसके बाद उन दोनों में पंचायती रूप से तलाक हो गया था। जिसके बाद वह पोंटा साहिब के एक गांव में रहने लगी। वह वहीं पर दवाई बनाने की फैक्ट्री में काम करती थी। महिला ने बताया कि उनकी फैक्ट्री में ही गांव पलोदी पोंटा साहिब निवासी रमेश भी काम करता था। जिस कारण उन दोनों में बातचीत होने लगी। उसने रमेश को अपनी सारी बात बता दी। जिसके बाद रमेश ने उससे कहा कि वह उससे शादी कर लेगा। इस दौरान रमेश उसके क्वार्टर पर आने लगा और करीब दो साल तक उसके साथ संबंध बनाए। बाद में आरोपित ने उससे शादी करने से मना कर दिया। 9 सितंबर को आरोपित रमेश अपने साथ गांव कोट निवासी अमजद व काका को लेकर आया। रमेश उसे कहने लगा कि उसके पास उसकी अश्लील फोटो है अगर उसने अमजद व काका के साथ संबंध नहीं बनाए तो वह फोटो वायरल कर देगा।

इस दौरान आरोपित अमजद व काका ने उसके साथ जबरदस्ती दुष्कर्म किया। 12 सितंबर को आरोपित अमजद व काका ने उसे अपने गांव बुलाया और उससे कहा कि वह रमेश से उसकी शादी करवा देंगे। आरोपितों के कहने पर वह उनके गांव में आ गई। जहां आरोपितों ने उसे एक कमरे में बंद कर दिया और रात को उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। वह किसी तरह आरोपितों से बचकर भाग निकली। उसने मामले की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मामले की जांच के बाद आरोपित रमेश, अमजद व काका के खिलाफ धारा 376 डी के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।

Next Story