Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऊर्जा संरक्षण में उत्कृष्ट योगदान करने वालों को मिलेंगे पुरस्कार, नामांकन करने की अंतिम तिथि 10 मार्च

एक मेगावाट से अधिक लोड वाले बड़े उद्योगों को प्रथम पुरस्कार के रूप में 3 लाख रुपये व द्वितीय पुरस्कार के रूप में 2 लाख रुपये का पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। इसी प्रकार एक मेगावाट से कम लोड वाले छोटे उद्योगों को प्रथम पुरस्कार 2 लाख रुपये तथा द्वितीय पुरस्कार एक लाख रुपये दिया जाएगा।

Electricity
X

Electricity 

हरिभूमि न्यूज : फतेहाबाद

ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्ट सहयोग व सराहनीय कार्य करने वाले बड़े एवं छोटे उद्योगों, सरकारी व अर्धसरकारी भवनों, नगरपालिका, नगर परिषदों, सरकारी अस्पतालों, शिक्षण संस्थानों, वाणिज्यिक भवनों, ऊर्जा दक्षता ब्यूरो के तहत स्टार रेटिंग भवनों तथा व्यक्तिगत श्रेणी में लाखों रुपये के पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। इसके लिए अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय में निर्धारित प्रफोर्मा में आवेदन किया जा सकता है।

अतिरिक्त उपायुक्त समवर्तक सिंह ने बताया कि नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा विभाग के माध्यम से ऊर्जा का संरक्षण करने वालों, जिन्होंने नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा के संयंत्रों व उपकरणों को प्रोत्साहित करने के लिए तथा ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में नये-नये कार्य, खोज व तकनीक विकसित करने में सहयोग किया हो, को प्रतिवर्ष की भांति इस साल भी नकद पुरस्कार, प्रशंसा-पत्र व शील्ड देकर सम्मानित किया जाएगा। इन पुरस्कारों के लिए नामांकन करने की अंतिम तिथि 10 मार्च निर्धारित की गई है। इच्छुक संस्थान अक्षय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार के नामांकन निर्धारित प्रोफार्मा में 10 मार्च तक अतिरिक्त उपायुक्त कार्यायल में जमा करवा सकते हैं।

उन्होंने बताया कि योजना के तहत एक मेगावाट से अधिक लोड वाले बड़े उद्योगों को प्रथम पुरस्कार के रूप में 3 लाख रुपये व द्वितीय पुरस्कार के रूप में 2 लाख रुपये का पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। इसी प्रकार एक मेगावाट से कम लोड वाले छोटे उद्योगों को प्रथम पुरस्कार 2 लाख रुपये तथा द्वितीय पुरस्कार एक लाख रुपये दिया जाएगा। व्यावसायिक भवनों की श्रेणी में शॉपिंग माल, प्लाजा, होटल, अस्पताल, कॉरपोरेट, रिसॉर्ट आदि जिनमें एलईईडी, ग्रीन बिल्डिंग, गृृह रेटिड या ईसीबीसी अनुसार भवन बना हो तथा जिनका कुल लोड एक मेगावाट या अधिक हो, ऐसे उर्जा के लिए प्रथम पुरस्कार 2 लाख रुपये तथा द्वितीय पुरस्कार एक लाख रुपये दिया जाएगा। इसी श्रेणी के भवनों, जिनका लोड एक मेगाावाट से कम हो, को प्रथम पुरस्कार एक लाख रुपये तथा द्वितीय पुरस्कार 50 हजार रुपये दिया जाएगा।

पांच हजार वर्गफुट क्षेत्र में बने तथा 500 किलोवाट से अधिक लोड वाले सरकारी भवनों की श्रेणी, जिनमें एलईईडी, ग्रीन बिल्डिंग, गृहा रेटिड या ईसीबीसी अनुसार हों, को उर्जा संरक्षण के लिए प्रथम पुरस्कार 2 लाख रुपये, तथा द्वितीय पुरस्कार एक लाख रुपये दिया जाएगा। इसी श्रेणी के 500 किलोवाट से कम के भवनों को प्रथम पुरस्कार एक लाख रुपये व द्वितीय पुरस्कार 50 हजार रुपये दिया जाएगा।

Next Story