Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा में उपद्रवियों से होगी नुकसान की वसूली, विधानसभा में बिल पास

कांग्रेसी विधायकों द्वारा विधेयक को लेकर सदन के अंदर जमकर नारेबाजी, शोरगुल किया और इस दौरान नेता विपक्ष के साथ में गृहमंत्री अनिल विज की तीखी बहस हुई। गृहमंत्री विज ने इस दौरान विरोध करने वालों से दर्जनों सवाल दागे व पूछ लिया कि वे दंगाइयों, सरकारी, निजी संपत्ति जलाने वालों के साथ खड़े हैं या फिर पीड़ित लोगों के साथ में हैं।

हरियाणा में उपद्रवियों से होगी नुकसान की वसूली, विधानसभा में बिल पास
X

आखिरकार हरियाणा विधानसभा में प्रदेश के गृहमंत्री अनिल विज ने पेश संपत्ति क्षति वसूली विधेयक 2021 पेश किया और इसकी महत्ता को लेकर अपनी बात रखी। विधेयक को लेकर नेता विपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा, डाक्टर रघुबीर कादियान ने अपने विधायकों के साथ में आपत्ति जाहिर करते हुए इसे टालने की मांग की। कांग्रेसी विधायकों द्वारा विधेयक को लेकर सदन के अंदर जमकर नारेबाजी, शोरगुल किया और इस दौरान नेता विपक्ष के साथ में गृहमंत्री अनिल विज की तीखी बहस हुई। गृहमंत्री विज ने इस दौरान विरोध करने वालों से दर्जनों सवाल दागे व पूछ लिया कि वे दंगाइयों, सरकारी, निजी संपत्ति जलाने वालों के साथ खड़े हैं या फिर पीड़ित लोगों के साथ में हैं।

गुरुवार को हरियाणा विधानसभा बजट सत्र का अंतिम दिन था, कार्यवाही के अंतिम चरण में यह बिल लाया गया। जिस दौरान गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज यह विधेयक पेश कर रहे थे, उस दौरान नेता विपक्ष व पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा, डा. रघुबीर कादियान, किरण चौधरी के साथ में विज की तीखी नोकझोंक भी हुई।

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज का कहना है कि सरकारी एवं जनता की निजी सम्पत्ति की रक्षा और सुरक्षा करना राज्य सरकार की जिम्मेदारी है, जिसमें 'हरियाणा लोक व्यवस्था में विघ्न के दौरान सम्पत्ति क्षति वसूली विधेयक' मील का पत्थर साबित होगा।

अनिल विज ने कहा कि हरियाणा विधानसभा सत्र के दौरान बिल पर बोलते हुए कहा कि इस बिल के पारित होने से राज्य के लोगों को किसी भी आन्दोलन या प्रदर्शन के दौरान सरकारी या निजी सम्पत्ति की तोडफोड़, आगजनी या नुकसान की भरपाई करने का अधिकार प्राप्त हो गया है। अब से पहले प्रदर्शनकारी द्वारा लोगों के रेहड़ी-फड़ी, दुकानें, शोरूम, मॉल, मोटरसाइकिल, गाड़ियों, घरों या सरकारी दफतरों व सम्पत्ति को नुकसान एवं आग के हवाले कर दिया जाता हैं। इससे गरीब लोगों की खून पसीने की कमाई पल भर में राख में बदल जाती थी। इस बिल के आने से भविष्य में ऐसा काम करने वाले और उसका समर्थन करने वालों की पहचान करके नुकसान की भरपाई करवाई जाएगी। इससे प्रदेश में ऐसी घटनाओं पर रोक लगेगी और लोगों के जानमाल की रक्षा होगी।

गृहमंत्री ने कहा कि प्रदेश की जनता की मांग पर यह बिल विधानसभा में पारित किया गया है इससे लोगों के प्रजातांत्रिक अधिकारों की सुरक्षा होगी। उन्होंने कहा कि हमारे देश में दुनिया की सबसे श्रेष्ठ लोकतंत्रिक व्यवस्था है, जिसमें किसी भी संगठन या राजनैतिक पार्टी द्वारा शांतिपूर्ण ढंग़ से धरना, प्रदर्शन, जुलूस इत्यादि करने का अधिकार है। यह बिल इस प्रकार की किसी भी शांतिपूर्वक गतिविधि करने का विरोध नहीं करता है परन्तु किसी भी संगठन को लोगों के घरों एवं व्यापारिक प्रतिष्ठाानों का नुकसान करने का अधिकार नहीं देता है। इस बिल का किसी भी संगठन या किसानों के किसी भी प्रकार के आन्दोलन से कोई संबंध नहीं है।

विधानसभा में पूर्व मुख्यमंत्री एवं विपक्ष नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा कांग्रेस डा. सतबीर कादियान, किरण चौधरी ने बिल का विरोध किया और बिल को वापस लेने पर अड़े रहे। विज ने उनसे पूछा कि कांग्रेस पार्टी यह स्पष्ट करें कि क्या वे दंगाइयों के साथ हैं, लोगों की सम्पति को आग लगाने वालों के साथ हैं, बसें जलाने वालों के साथ हैं या तोड़फोड़ व लूटपाट करने वालों के पक्ष में है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को आज इस पर फैसला करना होगा कि वे शांतिपूर्वक प्रदर्शनों के साथ है या तोडफोड़ व आगजनी करने वाले प्रदर्शनकारियों के साथ है।

Next Story