Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फतेहाबाद : नगरपरिषद कार्यालय में अधिकारियों और लोगाें के बीच जमकर हुई हाथापाई, पढ़ें क्या था मामला

नगरपरिषद अधिकारियों के साथ हाथापाई की सूचना मिलते ही काफी संख्या में कर्मचारी नगरपरिषद कार्यालय में पहुंच गए और घायल अधिकारियों को सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया।

फतेहाबाद : नगरपरिषद कार्यालय में अधिकारियों और लोगाें के बीच जमकर  हुई हाथापाई, पढ़ें क्या था मामला
X

अधिकारियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते प्रोपर्टी आईडी बनवाने आए लोग।

हरिभूमि न्यूज : फतेहाबाद

प्रॉपर्टी आईडी बनवाने को लेकर आज नगरपरिषद कार्यालय में आईडी बनवाने आए लोगों और अधिकारियों के साथ विवाद हो गया। देखते ही देखते बात हाथापाई तक जा पहुंची। आईडी बनवाने आए लोगों ने नगरपरिषद अधिकारियों पर प्रॉपर्टी आईडी के नाम पर बेवजह परेशान करने और रिश्वत मांगने के आरोप लगाए। नगरपरिषद अधिकारियों के साथ हाथापाई की सूचना मिलते ही काफी संख्या में कर्मचारी नगरपरिषद कार्यालय में पहुंच गए और घायल अधिकारियों को सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया। इसके बाद नगरपरिषद कार्यालय में कर्मचारी धरने पर बैठ गए और हड़ताल पर जाने की घोषणा करते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

वहीं दूसरी पक्ष के लोगों ने भी इस बारे शहर पुलिस को शिकायत देकर अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए और प्रॉपर्टी आईडी के नाम पर नगरपरिषद में फैले भ्रष्टाचार की जांच करवाने की मांग की। नगरपरिषद में प्रॉपर्टी आईडी बनवाने आए पूर्व पार्षद राजेन्द्र चौधरी व सुभाष पपीया ने कहा कि प्रोपर्टी आईडी के नाम पर नगरपरिषद में जमकर भ्रष्टाचार फैला हुआ है। बिना पैसे दिए किसी भी फाईल को पास नहीं किया जा रहा। उन्होंने कहा कि उनकी ग्रीन पार्क के एक प्लाट की फाईल नगरपरिषद कार्यालय में अटकी पड़ी है और इसकी आईडी बनाने के नाम पर नगरपरिषद कर्मचारी रिश्वत की मांग कर रहे हैं और पैसे न देने पर उनकी फाइल को रोका हुआ है। उन्होंने नगरपरिषद अधिकारियों पर हमले का आरोप लगाते हुए शहर थाने जाकर इस बारे शिकायत दी। उनके समर्थन में दर्जनों लोग शहर थाने में पहुंच गए। इस मामले में प्रोपर्टी डीलर एसोसिएशन ने मंगलवार सुबह 11 बजे लघु सचिवालय के सामने बैठक बुलाई है।

अधिकारियों के साथ मारपीट से खफा कर्मचारियों ने की हड़ताल की घोषणा

नगरपरिषद के एक्सईन अमित कौशिक व एमई सुमित चोपड़ा के साथ मारपीट व झगड़ा करने की घटना की नगरपालिका कर्मचारी संघ फतेहाबाद ने कड़े शब्दों में आलोचना की है। संघ ने घोषणा की है कि जब तक दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही नहीं होती, तब तक शहर में सफाई कार्य और दफ्तर के सभी प्रकार के कार्य ठप्प रखे जाएंगे। आज नगरपरिषद कार्यालय के धरने के दौरान आयोजित बैठक में सफाई कर्मचारियों के अलावा फायर कर्मचारियों व कार्यालय के अन्य कर्मचारी भी शामिल हुए।





Next Story