Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हाईकोर्ट ने डीजीपी से पूछा सवाल, अभी तक कितने ऑनर कीलिंग मामले, और हर एक में आपने क्या-क्या किया

हाईकोर्ट (High Court) ने हरियाणा के डीजीपी को हलफनामा देकर यह बताने को कहा है कि राज्य में कितनी संख्या में आनर किलिंग के केस दर्ज है, कितने केस में जांच व ट्रायल जारी है।

हाईकोर्ट ने डीजीपी से पूछा सवाल, अभी तक कितने ऑनर कीलिंग मामले, और हर एक में आपने क्या-क्या किया
X

पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने अपने एक महत्वपूर्ण आदेश में हरियाणा में आनर किलिंग मामलों की बढ़ती संख्या पर चिंता जताई है। इसके साथ ही हाईकोर्ट (High Court) ने हरियाणा में इस तरह के मामलों को गैर वैज्ञानिक तरीके से जांच पर सवाल उठाया है।

हाई कोर्ट ने हरियाणा के डीजीपी को हलफनामा देकर यह बताने को कहा है कि राज्य में कितनी संख्या में आनर किलिंग के केस दर्ज है, कितने केस में जांच व ट्रायल जारी है। इस तरह के मामलों को फास्ट ट्रैक से निपटाने के लिए फास्ट ट्रैक विशेष जांच दल बनाने के लिए क्या कदम उठाए है।

कोर्ट ने डीजीपी को यह भी जानकारी देने का आदेश दिया है कि आनर किलिंग में प्रभावित परिवार, गवाह व पत्नी की सुरक्षा के लिए पुलिस (police) क्या कदम उठाती है। कोर्ट ने कहा कि इस तरह के जघन्य अपराध में गवाहों व सबूतों की एक पूरी चेन होती है, पुलिस किस तरीके से इनको सुरक्षित करने के लिए काम करती है।

हाई कोर्ट के जस्टिस एक के त्यागी ने यह आदेश फतेहाबाद के भट्टू कलां में आनर किलिंग के एक आरोपी रवि कुमार की नियमित जमानत की मांग पर सुनवाई करते हुए दिए।

रवि कुमार व अन्य 14 लोगो पर आरोप था कि उन्होने एक युवक धर्मवीर का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी। धर्मवीर ने उनके परिवार की लड़की सुनीता से प्रेम विवाह किया था। इस मामले में फतेहाबाद के भट्टू कलां में 1 जून 2018 को 15 लोगो के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई, जिसमें लड़की के परिवार वाले और रिश्तेदार के नाम शामिल थे।

लड़की ने मजिस्ट्रेट के सामने परिवारों वालों के खिलाफ ब्यान दर्ज दिए। हाई कोर्ट में जब पुलिस ने इस मामले में जवाब दायर किया तो कोर्ट ने इस तरह के मामलों की जांच पर सवाल उठाया।

Next Story