Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महेंद्रगढ़ : मिर्जापुर बाछौद के पास मालगाड़ी पलटी, रेल मार्ग बाधित

रेलवे द्वारा घटना की जांच की जा रही है। वहीं मालगाड़ी के पटरी से उतरने की वजह स्पष्ट नहीं हो पाई है।

महेंद्रगढ़ : मिर्जापुर बाछौद के पास मालगाड़ी पलटी, रेल मार्ग बाधित
X

रेवाड़ी-फुलेरा रेलमार्ग पर अटेली मंडी रेलवे स्टेशन से 5 किलोमीटर दूर गांव भीलवाड़ा के पास शुक्रवार भारतीय रेल की एक कंटेनर मालगाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस हादसे से करीब 25 वैगन पलट गए। शुक्र रहा, इसमें कोई जान की हानि नहीं हुई। यह कंटेनर मालगाड़ी समीप के काठूवास कंटेनर डिपो से लोड होकर गुजरात के मुद्रा पोर्ट जा रही थी। माल गाड़ी के दुर्घटनाग्रस्त होने की सूचना पाकर रेलवे व डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (डब्ल्यूडीएफसी) के शीर्ष अधिकारी व आरपीएफ के सुरक्षा बल मौके पर पहुंचे और राहत कार्य में जुटे हुए थे। फिलहाल उक्त रेले लाइन पर मालगाड़ियों व सवारी गाडि़यों का आवागमन अवरूद्ध हो गया हैं। दुर्घटना के कारणों की जांच की जा रही हैं। इस लाइन के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7 जनवरी को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (डब्ल्यूडीएफसी) के 306 किलोमीटर लंबे न्यू रेवाड़ी-न्यू मदार खंड को देश के नागरिकों को समर्पित किया।


जानकारी के अनुसार भारतीय रेल की माल गाड़ी सीएमएलके/एमडी सीसी डबल स्टेग काठूवास कंटेनर डिपो सेे 10 बजकर 45 मिनट पर चली थी। करीब 15 किलोमीटर चलने के बाद अटेली के समीप दुर्घटनाग्रस्त हो गई। जयपुर मंडल से राहत बचाव के लिए विशेष ट्रेन दुर्घटना स्थल पर पहुंची और राहत कार्य शुरू कर दिया। इस कारण रूट पर सवारी गाड़ी जनशाताब्दी एक्सप्रेस व चेतक एक्सप्रेस और मालगाडि़यों का रूट डायवर्ट किया। इस कारण करीब 100 मीटर रेल पटरी उखड़कर 'वी' आकार की बन गई। इस डीजल मालगाड़ी डबल डेकर में कुल 90 वैगन थे। जिनमें 30 वैगन ट्रैक पर सुरक्षित है तथा 25 करीब वैगन क्षतिग्रस्त होने की प्रारंभिक जानकारी मिली हैं। इन कंटेनरों में विभिन्न कंपनियों केे एक्सपोर्ट का माल था।

काठूवास कंटेनर डिपो के टर्मिनल मैनेजर सुरेंद्र बनाला ने बताया कि काठूवास कॉनकोर डिपो से 10 बजकर 30 मिनट पर चली थी। करीब 15 मिनट बाद 10:45 बजे दुर्घटनाग्रस्त की सूचना मिली। उसके बाद कॉनकोर व भारतीय रेल व राहत बचाव के लिए अलग-अलग विभाग के कर्मियों ने मोर्चा संभालकर रूट, डिब्बों व वैगन को ठीक किया जा रहा है। ट्रेफिक इंस्पेक्टर पीसी यादव व सीनियर सेक्सन इंजीनियर पीके भारद्वाज ने बताया कि 100 मीटर के करीब रेलवे ट्रेक को नुकसान हुआ हैं। सहायक सुरक्षा आयुक्त बीआर सरोज अपने दल-बल के साथ से मौके पर पहुंचकर अग्रिम कार्रवाई की। मालगाडि़यो को फे्रट कॉरिडोर (डब्ल्यूडीएफसी) की लाइन से गुजारने के लिए भी योजना बनाई जा रही हैं।

100 मीटर रेल पटरी उखड़कर 'वी' आकार की बनी

अचानक मालगाड़ी के वैगन रेल लाइन के साथ गिरने से जान-माल का नुकसान नहीं हुआ। करीब 100 मीटर रेल पटरी उखड़कर 'वी' आकार की बन गई। मालगाड़ी को देखने के लिए आस-पास के गांवों के ग्रामीण पहुंच गए। इन ग्रामीणों ने हादसे को देख कर रेलवे की चूक पर चर्चा की और कहा कि अगर कोई लाइन के साथ मकान, व्यक्ति या पशु रहते तो निश्चित रूप से वैगन के नीचे दब जाने से बड़ा हादसा हो सकता था।

Next Story