Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वैक्सीनेशन करने गई टीम को बंधक बनाकर की मारपीट, सरपंच और उसकेे साथियों पर केस दर्ज

खोल सीएचसी से टीम गांव कुंडल के स्कूल में वैक्सीन लगाने के साथ कोरोना के सैंपल ले रही थी। इस दौरान सरपंच अपने साथियों के साथ वहां आया और टीम के साथ मारपीट की।

Outsourcing staff beaten to death at referral hospital of Jamui only for one bottle of water bihar crime news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हरिभूमि न्यूज : रेवाड़ी

रविवार को गांव कुंडल गांव में बिना नंबर के रजिस्ट्रेशन करने से मना करने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ मारपीट कर बंधक बनाया गया और वैक्सीन सहित अन्य सामान को क्षतिग्रस्त कर दिया। गांव के निवर्तमान सरपंच और उसके साथियों पर आरोप लगे हैं। खोल थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

डॉ. नंदकिशोर ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि रविवार को खोल सीएचसी से टीम गांव कुंडल के स्कूल में वैक्सीन लगाने के साथ कोरोना के सैंपल ले रही थी। टीम में डाटा एंट्री ऑपरेटर कमलपाल, मुकिल, राकेश, अजय व पंकज के अलावा एंबुलेंस चालक नेत्रपाल व फिल्ड स्टाफ सुष्मा, बलराज, कविता एएनएम, सीमा, विक्रम आदि शामिल थे। इसी दौरान निवर्तमान सरपंच मनोज व प्रधान राजू अपने 10-15 साथियों के साथ स्कूल में आए तथा डाटा एंट्री ऑपरेटर को उठाकर दूसरे स्थान पर ले गए तथा अपने साथियों को रजिस्ट्रेशन करने को कहा।

डाटा एंट्री ऑपरेटर ने पहले लाइन में खड़े लोगों का रजिस्ट्रेशन की बात कहते हुए रजिस्ट्रेशन से इंकार कर दिया। जिसके बाद सरपंच ने डाटा एंट्री ऑपरेटन को थप्पड़ मारा और फिर उसके साथियों ने लाठी-डंडों से हमला कर टीम के सदस्यों को जान से मारने की धमकी दी। जिसके बाद टीम ने टीकाकरण व सैपलिंग का काम रोक दिया। जिसके बाद सरपंच ने अपने साथियों के साथ मिलकर टीम को स्कूल में बंधक बनाकर और फिर से सैपलिंग व वैक्सीनेशन का काम शुरू करने की धमकी देते हुए मारपीट शुरू कर दी। सरपंच ने महिला कर्मियों के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए गालियां भी दी। जांच के दौरान कोविड-19 की आठ वायल व 105 सीरिंज गायब मिली।

Next Story