Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देश में ऐसा पहला केस : पानीपत से 10 मीट्रिक टन ऑक्सीजन लेकर चला टैंकर चोरी

पानीपत के रिफायनरी परिसर से बुधवार को सिरसा के लिए रवाना हुआ था टैंकर, अब तक नहीं पहुंचा। ड्रग कंट्रोलर की शिकायत पर थाना मतलौड़ा पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की।

ऑक्सीजन की आपूर्ति में भेदभाव का आरोप, पार्षद घरने पर बैठे साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज
X

ऑक्सीजन 

विकास चौधरी : पानीपत

कोरोना काल में सबसे अधिक मारामारी ऑक्सीजन के लिए हो रही है। ऐसे में पानीपत स्थित इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड की रिफाइनरी क्षेत्र में स्थित प्लांट से 10 मिट्रिक टन ऑक्सीजन लेकर चला टैंकर चोरी हो गया है। पानीपत ड्रग कंट्रोलर ने बुधवार को टैंकर को सिरसा के लिए भेजा था, लेकिन टैंकर गुरुवार शाम तक भी सिरसा नहीं पहुंचा तो ड्रग कंट्रोलर ने मतलौडा थाने की बिहौली पुलिस चौकी में टैंकर चोरी का केस दर्ज कराया है।

वहीं, टैंकर के संबंध में जानकारी देने से अधिकारी बचते रहे। मतलौडा थाना प्रभारी से लेकर डीएसपी और ड्रग कंट्रोलर एक-दूसरे पर टालते रहे। कोई अधिकारी टैंकर में भरी ऑक्सीजन की सही मात्रा तक नहीं बता सका। पानीपत की ड्रग कंट्रोल ऑफिसर विजय राजे ने बताया कि उन्होंने बुधवार को पानीपत के मतलौडा स्थित इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड के पास स्थित प्लांट से ऑक्सीजन का टैंकर सिरसा के लिए रवाना किया था। टैंकर का नंबर पीबी 03 एपी 8229 है। टैंकर चालक को बुधवार शाम को ही सिरसा पहुंचना था, लेकिन वह गुरुवार तक भी वहां नहीं पहुंचा। इसके बाद ड्रग कंट्रोल ऑफिसर विजय राजे ने मतलौडा थाना क्षेत्र की बिहौली पुलिस चौकी में ऑक्सीजन चोरी का केस दर्ज कराया है।

सबसे अधिक किल्लत ऑक्सीजन की

देश में कोरोना फिर से पैर पसार रहा है। देशभर में फिलहाल सबसे अधिक किल्लत ऑक्सीजन की दिखाई दे रही है। सरकारी से लेकर निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन के बिना कोरोना पीड़ित जीवन की जंग नहीं जीत सकते। ऐसे में पानीपत में ऑक्सीजन का पूरा टैंकर चोरी होने का मामला सामने आया है।

ड्रग कंट्रोलर बोलीं डीएसपी बताएंगे, डीएसपी बोले- मैंने नहीं काटी टैंकर की बिल्टी

ऑक्सीजन से भरे टैंकर चोरी के संबंध में सबसे पहले मतलौडा थाना प्रभारी से जानकारी लेने का प्रयास किया गया। उन्होंने बिहौली चौकी प्रभारी से बात करने को कहा। घंटों तक चौकी प्रभारी का फोन ही कनेक्ट नहीं हुआ। इसके बाद ड्रग कंट्रोल अधिकारी विजय राजे से संपर्क किया तो उन्होंने डीएसपी हैड क्वार्टर सतीश वत्स से बात करने को कहा। हैड क्वार्टर सतीश वत्स ने कहा कि उन्होंने कैंटर की बिल्टी नहीं काटी है, इस संबंध में ड्रग कंट्रोल अधिकारी ही कुछ बता सकते हैं।

Next Story