Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बारिश के साथ आई तेज हवाओं ने खेतों में बिछा दी गन्ने की फसल

रविवार शाम तक मौसम पूरी तरह साफ था। मगर देर शाम नौ बजे के करीब अचानक आसमान (sky) में घने बादल छा गए और बिजली कड़कने लगी। इसके बाद बारिश के साथ तेज हवा चल पड़ी।

बारिश के साथ आई तेज हवाओं ने खेतों में बिछा दी गन्ने की फसल
X

यमुनानगर के जठलाना क्षेत्र में बारिश के साथ तेज हवा चलने से खेत में बिछी गन्ने की फसल।

हरिभूमि न्यूज.यमुनानगर। बारिश के साथ तेज हवा चलने से जिले में अधिकांश खेतों में खड़ी गन्ने की फसल को भारी नुक्सान (Damage) पहुंचा है। अधिकांश खेतों में गन्ने की फसल नीचे जमीन पर बिछ गई है या फिर टेडी हो गई है। जिससे किसानों ने गन्ने की फसल की पैदावार कम होने की आशंका जताई है। उधर, बारिश होने से मौसम में ठंडक बढ़ गई है।

मौसम में अचानक आया बदलाव

रविवार शाम तक मौसम पूरी तरह साफ था। मगर देर शाम नौ बजे के करीब अचानक आसमान में घने बादल छा गए और बिजली कड़कने लगी। इसके बाद बारिश के साथ तेज हवा चल पड़ी। जिससे मौसम में ठंडक बढ़ गई। बारिश और हवा रुक-रुक कर रात भर होती रही। जिससे अधिकांश खेतों में खड़ी गन्ने की फसल नीचे बिछ गई। सुबह के वक्त किसानों ने अपने खेतों का रुख किया तो देखा कि गन्ने की फसल नीचे बिछ गई है। जिसे देखकर वह चिंतिंत हो उठे।

खेतों में बिछने से गन्ने की पैदावार होगी कम

किसान जयपाल, मोहन लाल, गुरबक्श सिंह व सुरेश पाल आदि ने बताया कि अभी स्थानीय शुगर मिल में गन्ना पेराई का कार्य भी शुरु नहीं हुआ है और उनकी गन्ने की फसल खेतों में बिछ गई है। उनका कहना है कि गन्ने की फसल के खेतों में नीचे बिछने से गन्ने के वजन में कमी आती है। जिससे किसानों को प्रति एकड़ हजारों रुपये का नुक्सान होने की संभावना बन गई है। उन्होंने प्रदेश सरकार से स्थानीय शुगर मिल में गन्ना पेराई का कार्य जल्द शुरु करवाए जाने की मांग की।




Next Story