Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

133 कोर्सों में विद्यार्थियों को 100 प्रतिशत तक मिलेगी स्कॉलरशिप

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के प्रो. चांसलर डा. आरएस बावा ने 33 करोड़ रुपए की सीयूसीईटी-2021 स्कॉलरशिप योजना के ऑनलाइन पोर्टल का विमोचन करते हुए कहा।

133 कोर्सों में विद्यार्थियों को 100 प्रतिशत तक मिलेगी स्कॉलरशिप
X

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के प्रो. चांसलर डा. आरएस बावा साथ में लवलेश दत्ता, मोहित कुमार एवं अन्य।

हरिभूमि न्यूज : सोनीपत

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के प्रो. चांसलर डा. आरएस बावा ने 33 करोड़ रुपए की सीयूसीईटी-2021 स्कॉलरशिप योजना के ऑनलाइन पोर्टल का विमोचन करते हुए डा. बावा ने कहा कि इस स्कॉलरशिप केतहत यूनिवर्सिटी द्वारा करवाए जा रहे 133 अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सों में विद्यार्थी 100 प्रतिशत तक की स्कॉलरशिप हासिल कर सकते हैं। जिसके लिए वेबसाइट पर आवेदन किया जा सकता है।

डा. बावा ने बताया कि इंजीनियरिंग, एमबीए, लॉए फामेर्सी और एग्रीकल्चर कोर्सों के लिए यह परीक्षा देना अनिवार्य होगा तथा अब तक तकरीबन 63 हजार विद्यार्थी इस स्कॉलरशिप का लाभ ले चुके हैं। डा. बावा ने बताया कि यह परीक्षा 200 सेंटर पर परीक्षार्थी के मर्जी के दिन और समय पर आयोजित होगी और परीक्षा पूरी तरह से 12वीं कक्षा पर बेस होगी। जो परीक्षार्थी इस परीक्षा में 90 प्रतिशत मॉर्क्स लाएगा, वो स्कॉलरशिप का हकदार होगा। उन्होंने कहा कि यह पहली ऐसी स्कॉलरशिप होगी जोकि पूरे कोर्स के दौरान दी जाएगी, बशर्ते विद्यार्थी के गे्रड 7.5 से कम ना हो, कभी फेल ना हो, लेक्चर शॉर्ट ना हो, अनुशासन में रहे। उन्होंने बताया कि अब तक रिसर्च में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी द्वारा दर्ज किए गए कुल 900 पेटेंट में से 76 पेटेंट हरियाणा के छात्रों ने फाइल करके एक महत्वपूर्ण योगदान दिया है। डा. बावा ने कहा कि ऑफिस ऑफ दि कंट्रोलर जनरल ऑफ पेटेंट डिजाइन एंड ट्रेड माकर्स, भारत सरकार के आंकड़ों के अनुसार चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी साल 2018-19 के दौरान देशभर में सबसे अधिक पेटेंट फाइल करने से देश की नंबर वन यूनिवर्सिटी बन गई है।

लवलेश ने दिखाए अपने पेटेंट

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में बीबीए स्टूडेंट लवलेश दत्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने कहा कि डीडीयू यूनिवर्स नाम से एक स्टार्टअप स्थापित किया है और 10 से ज्यादा पेटेंट दर्ज किए हैें। लवलेश ने फर्स्ट-स्मॉल स्मार्ट बिन बनाने में के लिए वर्ल्डबुक ऑफ रिकॉर्ड्स और वुमन सेफ्टी डिवाइस, स्मार्ट डस्टबिन और सेटेलाइट निर्माण के लिए 3 इंडिया बुक ऑफ रिकॉडर्स अपने नाम किए हैं। कंप्यूटर साइंस इंजिनीरिंग के छात्र मोहित कुमार ने बताया कि उन्हें नासा इंटरव्यू में देशभर के 75000 से अधिक छात्रों में से टॉप 3 विद्यार्थियों में चयनित किया गया था, वहीं गूगल स्टार्टअप वीकेंड में 250 से अधिक टीमों में दूसरा स्थान हासिल किया। मोहित ने बताया कि उन्होंने इंजीनियरिंग, मशीन लनिंर्ग और आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस जैसे विभिन्न क्षेत्रों में 24 पेटेंट दर्ज किए हैं, वहीं 6 स्टार्टअप शुरू किए है।

Next Story