Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एसटीएफ करेगी दिल्ली कोर्ट पेपर लीक मामले की जांच

पुलिस ने पंजाब कैग में आडिटर सुरेंद्र व अकाउंटेंट हरदीप को गिरफ्तार कर पांच दिन के रिमांड पर लिया हुआ है। जबकि मुर्गी फार्म व मकान मालिक कृष्ण तथा पेपर लीकेज का मुख्य सरगना गांव काकड़ोद निवासी अशोक अभी भी फरार है।

एसटीएफ करेगी दिल्ली कोर्ट पेपर लीक मामले की जांच
X

उचाना थाना का फोटो।

हरिभूमि न्यूज. जींद

दिल्ली न्यायालय डी ग्रुप पेपर लीकेज के मामले की जांच अब एसटीएफ (स्पेशल टॉस्क फोर्स) करेगी। जिला पुलिस ने केस जुड़ी फाइल को एसटीएफ को सौंप दिया है। अब एसटीएफ बारिकी से तथ्यों को खंगालेगी और गिरोह की कड़ियों को जोड़कर तह तक पहुंचेगी।

साथ ही दिल्ली पुलिस के साथ भी पेपर लीकेज के मामले में तालमेल बनाकर रखेगी। काबिलेगौर है कि उचाना थाना पुलिस ने 28 फरवरी को गांव काकड़ोद व नचारखेड़ा के बीच मुर्गी फार्म व मकान पर छापेमारी कर दिल्ली न्यायालय डी ग्रुप पेपर लीकेज का भंडाफोड़ किया था। पुलिस ने इस मामले में पंजाब कैग में आडिटर सुरेंद्र व अकाउंटेंट हरदीप को गिरफ्तार कर पांच दिन के रिमांड पर लिया हुआ है। जबकि मुर्गी फार्म व मकान मालिक कृष्ण तथा पेपर लीकेज का मुख्य सरगना गांव काकड़ोद निवासी अशोक अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है। जिला पुलिस की पांच टीमे गिरोह से जुड़े तथ्यों को खंगालने में जुटी हुई है। वहीं इसी मामले में दिल्ली पुलिस ने तीन स्थानों पर एफआईआर दर्ज कर 20 परीक्षार्थियों को गिरफ्तार किया हुआ है। जिनके पास परीक्षा के दौरान इलैक्ट्रोनिक डिवाइस पकड़ी गई थी।

दिल्ली में पकड़े गए परीक्षार्थियों के तार गांव काकड़ोद निवासी मुख्य सरगना अशोक से जुड़े हुए है। जिसको लेकर दिल्ली क्राइम ब्रांच ने उचाना तथा नरवाना के आधा दर्जन गांवों में दस्तक दी थी लेकिन जिन लोगों की तलाश दिल्ली पुलिस को थी वे हाथ नहीं लगे। डीजीपी हरियाणा ने मामले को गंभीरता से लिया और उचाना थाना में दर्ज हुए धोखाधड़ी तथा आईटी एक्ट के इस मामले को एसटीएफ को ट्रांसफर करने के निर्देश दिए। वीरवार को जिला पुलिस ने पेपर लीकेज के मामले की फाइल को एसटीएफ को ट्रांसफर कर दिया। अब एसटीएफ पेपर लीकेज से जुड़े मामले की जांच करेगी। डीएसपी जितेंद्र ने बताया कि मामला हाई प्रोफाइल होने के चलते डीजीपी के दिशा निर्देशों पर दिल्ली न्यायालय ग्रुप डी पेपर लीकेज से जुड़े मामले को एसटीएफ को ट्रांसफर कर दिया है। अब इस मामले की जांच एसटीएफ करेगी।

Next Story