Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सोनीपत मेंं बदमाश को गोली मारने वाला पुलिसकर्मी रिमांड पर, आठ सस्पेंड

कोर्ट परिसर में कैदी वाहन के अंदर बैठे बदमाश अजय उर्फ बिट्टू बरोणा को सिर में सटाकर तीन गोली मारी गई थी और घर पर उसके पिता की हंत्या कर दी गई थी।

सोनीपत मेंं बदमाश को गोली मारने वाला पुलिसकर्मी रिमांड पर, आठ सस्पेंड
X

घायल अजय को लेकर अस्पताल से रोहतक रेफर करते हुए। फाइल फोटो

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत

कोर्ट परिसर में बदमाश अजय को गोली मारने के आरोपी रोहतक पुलिस के सिपाही को सीआईए-2 ने न्यायालय में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया है। मामले की जांच नेतृत्व एएसपी निकिता खट्टर को दिया गया है। शुरूआती जांच में सामने आया है कि वारदात रामकरण गैंग के इशारे पर हुई है। उधर, अस्पताल में भर्ती अजय उर्फ बिट्टू बरोणा की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने सुरक्षा के चलते उसे पीजीआई से निजी अस्पताल में शिफ्ट कर दिया है। जहां उसका उपचार जारी है। साथ ही उसके साथ गार्द में आए पुलिस कर्मियों की विभागीय जांच शुरू कर दी गई है।

कोर्ट परिसर में कैदी वाहन के अंदर बैठे बदमाश अजय उर्फ बिट्टू बरोणा को सिर में सटाकर तीन गोली मारी गई थी। जिसका आरोप रोहतक की सुनारिया जेल से उसके साथ आए सिपाही महेश पर लगा था। पुलिस ने महेश को मौके से काबू कर लिया था। शुक्रवार को सीआईए-2 के इंस्पेक्टर अनिल कुमार ने महेश को दोपहर के समय सीजेएम कोर्ट में पेश किया। इस दौरान कोर्ट परिसर पुलिस छावनी बना रहा। आरोपी सिपाही महेश को तीन दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है। सीआईए की टीम अब एएसपी निकिता खट्टर के निर्देशन में महेश से पूछताछ करेगी।

शुरूआती पूछताछ में हमला गैंगवार के चलते किए जाने की बात सामने आई है। पुलिस अधिकारी हमले के पीछे रामकरण गैंग का हाथ बता रहे हैं। वहीं घायल अजय की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। उसे रात को पीजीआई से एक निजी अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया था। पुलिस ने गांव बरोणा में बदमाश अजय उर्फ बिट्टू के घर पर सुरक्षा बढ़ा दी है।

आठ काे तत्काल प्रभाव से किया सस्पेंड

सोनीपत कोर्ट में हवालाती अजय उर्फ बिटटू को गोली मारने वाले रोहतक पुलिस के सिपाही की करतूत पर पुलिस विभाग ने कड़ा संज्ञान लिया है। महेश और पूरी गार्द को लापरवाह माना गया है, जिसकी वजह से वारदात हुई। महेश गार्द टीम के आठ सदस्यों काे तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है। डीएसपी ने अपनी जांच में सभी कर्मचारियों द्वारा लापरवाही बरतने की बात कही है, जिस पर संज्ञान लिया गया है। उधर, तीन गोली लगने से जख्मी अजय का दिल्ली रोड स्थित निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है। जहां उसकी हालत खतरे में है। शुक्रवार को बरोणा में अजय के पिता कृष्ण का अंतिम संस्कार किया गया लेकिन अजय गांव नहीं पहुंच सका। रामकरण और बड़वासनी गिरोह में एक बार फिर से हुई गैंगवार को देखते हुए एसपी राहुल शर्मा ने पुलिस को अलर्ट किया है। शुरूआती जांच में दोनों वारदातों का सम्बंध रोहतक के सत्यवान मलिक हत्याकांड से पाया गया है। जिसके बाद सोनीपत पुलिस ने सत्यवान के परिजनाें समेत 18 पर केस दर्ज किया है। अजय बड़वासनी गैंग का मुखिया है और शीला बाईपास पर हुए सत्यवान हत्याकांड में वह आरोपित है।

अजय बिटटूू की हालत नाजुक

अजय बिट्टू के सिर में गोली मारी गई हैं। जिसे पहले ट्रामा सेंटर में उपचार के लिए भर्ती कराया गया था। इसके बाद उसे शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उसका उपचार चल रहा है। बीती रात उसका आप्रेशन किया गया। जिसके बाद उसे वेंटीलेटर पर रखा गया है। अभी उसकी हालत खतरे में बताई जा रही है। पुुलिस ने अजय की सुरक्षा के लिए गार्द अस्पताल में तैनात की है।

8 पुलिस कर्मी थे मौके पर मौजूद

सोनीपत पुुलिस को दी शिकायत में ईएसआई मुकेश कुमार ने बताया कि वह पुलिस चौकी कोर्ट काम्प्लैक्स सोनीपत में तैनात है। वीरवार को कैदियों की गाड़ी परिसर में खड़ी थी। जिसका दरवाजा खुला था। गाड़ी में एक युवक घायल पड़ा था। वहां खड़े पुुलिसकर्मियों से नाम पूछा तो उन्होंने अपना नाम ईएसआई कुलदीप गार्द ईंचार्ज, ईएएसआई रोशनलाल, ईएसआई श्रीभगवान, ईएचसी विवेक, सिपाही विक्रम, सिपाही मुनीश, सिपाही नवीन और सिपाही महेश बताया। गार्द चार आरोपित सागर, अजय , सुनील व प्रदीप को जिला जेल रोहतक से पेश करने के लिए सोनीपत में लाई थी। अजय की आर्म्स एक्ट में जेएमआईसी मानविका यादव की कोर्ट में पेशी थी। पेशी के बाद अजय को गाड़ी में बैठाया तो महेश ने उसे गोलियां मार दी। उधर, इसी दौरान गांव बरोणा में अजय के पिता कृष्ण की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जिसका केस खरखौदा में दर्ज किया गया है।



Next Story