Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एक साल बाद शंभू Toll फिर शुरू, वाहन चालकों की जेब पर बढ़ा बोझ, इतने बढ़ाए गए हैं रेट

शंभू टोल प्लाजा पर अभी 13 में से 9 लेन शुरू की गई हैं। किसानों के पूरी तरह से यहां से हटते ही बचे लेन भी शुरू हो जाएंगी। अभी प्लाजा पर स्टाफ भी पर्याप्त नहीं है। प्रबंधन की ओर से अभी 50 फीसदी स्टाफ से काम चलाया जा रहा है।

एक साल बाद शंभू Toll फिर शुरू, वाहन चालकों की जेब पर बढ़ा बोझ, इतने बढ़ाए गए हैं रेट
X

हरिभूमि न्यूज. अंबाला

किसान आंदोलन के कारण पिछले एक साल से बंद पड़ा शंभू टोल प्लाजा ( Shambhu Toll Plaza ) सोमवार को शुरू हो गया। पहले दिन ही व्यवसायिक वाहन चालक की जेब पर बोझ पड़ गए। ऐसे वाहन चालकों को पांच से दस रुपये अतिरिक्त चुकाने पड़ रहे हैं। उधर किसानों ने ऐलान कर दिया है कि दो बाद वे पूरी तरह टोल प्लाजा को खाली कर देंगे। अभी दिल्ली की ओर से आ रही किसान जत्थेबंदियों के लिए यहां लंगर की सेवा चल रही है। इसके बावजूद टोल प्लाजा की गतिविधियां शुरू हो गई है। लंबे समय बाद यहां से रोज गुजरने वाले वाहन चालकों को टोल चुकाने में बेहद तकलीफ हुई। इससे पहले ये वाहन चालक सीधे निकल जाते थे।

अभी नौ लेन की गई शुरू

शंभू टोल प्लाजा पर अभी 13 में से 9 लेन शुरू की गई हैं। किसानों के पूरी तरह से यहां से हटते ही बचे लेन भी शुरू हो जाएंगी। अभी प्लाजा पर स्टाफ भी पर्याप्त नहीं है। प्रबंधन की ओर से अभी 50 फीसदी स्टाफ से काम चलाया जा रहा है। प्लाजा की ओर से अभी एलसीसी, मिनी बस, बस, ट्रक को वापसी में पांच-पांच रुपये व एमएवी वाहनों को वापसी में दस रुपये ज्यादा देने होंगे। शंभू टोल प्लाजा से रोजाना 20 से 30 हजार वाहन गुजरते हैं। इसकी देखरेख की जिम्मेदारी पार्थ इंडिया लिमिटेड के पास है।


मंथली पास की अभी यह स्थिति

टोल प्लाजा की ओर से मंथली पास के लिए दरें निर्धारित की गई हैं। अभी प्लाजा की ओर से दस किलोमीटर एरिया तक 150 रुपये प्रति महीना, 20 किलोमीटर एरिया तक 300 रुपये प्रति महीना तय किया गया है। मंथली पास केवल प्राइवेट कारों का ही बनाया जाता है। अभी मंथली पास के रेट में किसी तरह का इजाफा नहीं किया गया है। पहले टोल प्रबंधन को 15 दिसंबर को चालू होने की उम्मीद थी। मगर किसानों के ऐलान के बाद उन्हें तुरंत काम शुरू करना पड़ा। इसी वजह से सोमवार को टोल फिर से शुरू हो गया।

अभी दो दिन तक चलेगी लंगर सेवा

किसान नेता वजिंद्र कांबोज ने बताया कि किसान आंदोलन स्थगित हो चुका है। दिल्ली से लगातार किसान जत्थेबंदियां हरियाणा व पंजाब की ओर लौट रही हैं। अभी हम दो दिन तक शंभू टोल प्लाजा पर रहेंगे। दिल्की की ओर से लौट रही किसान जत्थेबंदियों के लिए यहां लंगर तैयार करवाया जा रहा है। जत्थेबंदियों की वापिसी के साथ ही किसान भी पूरी तरह से शंभू टोल प्लाजा से हट जाएंगे। उन्होंने कहा कि शंभू टोल प्लाजा पर नियमित गतिविधियां शुरू हो गई हैं।

क्या कहते हैं टोल मैनेजर

इसी साल एक सितंबर से टोल रेट रिवाइज हुए हैं। किसी भी वाहन का एक तरफ जाने का रेट नहीं बढ़ाया गया है। अभी प्लाजा पर गतिविधियां शुरू हो गई हैं। किसानों ने अभी दो दिन का समय मांगा है इसलिए सभी 13 लेन चालू नहीं की गई हैं। उम्मीद है कि किसान जत्थेबंदियों की वापिसी के पास टोल पर कलेक्शन का काम पहले की तरह शुरू हो जाएगा। -पंकज चौहान, मैनेजर, शंभू टोल प्लाजा, अंबाला

और पढ़ें
Next Story