Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Hisar : शहीद सतपाल को श्रद्धांजलि देने के लिए उमड़ा जनसैलाब, साढ़े चार साल की बेटी ने दी मुखाग्नि

15 अगस्त को लद्दाख में हुई एक सड़क दुर्घटना (Road accident) में वे शहीद हो गए थे। बुधवार को उनके पार्थिव शरीर को सेना द्वारा हिसार लाया गया। सिरसा रोड पर अग्रोहा से पहले टोल-प्लाजा से युवाओं का समूह काफिले व शहीद सतपाल अमर रहे के नारों के साथ उनके पार्थिक शरीर को अग्रोहा तक लाया इसके बाद पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार हुआ।

Hisar : शहीद सतपाल को श्रद्धांजलि देने के लिए उमड़ा जनसैलाब, साढ़े चार साल की बेटी ने दी मुखाग्नि
X
राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

अग्रोहा। लद्दाख में 15 अगस्त को सड़क हादसे में शहीद हुए अग्रोहा के सतपाल भाकर का बुधवार को पूरे राजकीय सम्मान (State honor) के साथ भारत माता की जय व शहीद सतपाल अमर रहे के नारों के साथ अंतिम संस्कार किया गया। शहीद सतपाल भाकर को श्रद्धांजलि (tribute) देने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। शहीद की साढ़े चार वर्षीय बड़ी बेटी साक्षी ने पिता को मुखाग्नि दी। इस अवसर पर शहीद की छोटी बेटी नमन भी मौजूद थीं।

सन 1988 में गांव भोडा होशनाक में जन्मे और भारतीय सेना में लद्दाख क्षेत्र में तैनात सतपाल भाकर 7 महीने पहले छुट्टियों में घर आए थे। 15 अगस्त को लद्दाख में हुई एक सड़क दुर्घटना में वे शहीद हो गए थे। बुधवार को उनके पार्थिव शरीर को सेना द्वारा हिसार लाया गया। सिरसा रोड पर अग्रोहा से पहले टोल-प्लाजा से युवाओं का समूह काफिले व शहीद सतपाल अमर रहे के नारों के साथ उनके पार्थिक शरीर को अग्रोहा तक लाया। इसके बाद शहीद के पार्थिव शरीर को पहले उनके घर ले जाया गया। इसके उपरांत शहीद के पार्थिव शरीर को अग्रोहा स्थित श्मशान घाट लाया गया।

श्मशान घाट में भारतीय सेना के सीईओ सुरेश राय ने शहीद को सलामी दी और सेना के जवानों ने फायरिंग कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। सिरसा लोकसभा क्षेत्र की सांसद सुनीता दुग्गल, राज्यसभा सांसद डॉ. डीपी वत्स, एसडीएम राजेंद्र सिंह, राज्यमंत्री अनूप धानक के प्रतिनिधि के रूप में उनके भाई सतीश कुमार, बीडीपीओ मनोज कुमार, सरपंच बलबीर भांभू, पिता बलवान, पुलिस थाना प्रभारी गुरदीप, जजपा जिलाध्यक्ष कैप्टन छाजूराम सहित बड़ी संख्या में गणमान्य व्यक्तियों ने शहीद को पुष्पांजलि भेंट की। शहीद के अंतिम संस्कार में महिलाएं भी श्मशान घाट पहुंची। इस दौरान पूरा माहौल मार्मिक व गमगीन रहा।

हरियाणा के पुरातत्व-संग्रहालय एवं श्रम-रोजगार राज्यमंत्री अनूप धानक ने शहीद सतपाल के परिजनों से फोन पर बात कर उन्हें सांत्वना दी। उन्होंने कहा कि शहीद सतपाल देश की सेवा करते हुए शहीद हुए हैं और पूरे देश को उन पर गर्व है। दुख की इस घड़ी में प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन शहीद के परिवार के साथ है।

Next Story