Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जींद : बर्खास्त पीटीआई अध्यापकों के समर्थन में धमतान तपा के पूर्व प्रधान ने की आत्मदाह की कोशिश, पुलिस ने लोगों पर भांजी लाठियां

शुक्रवार दोपहर बाद रंगीराम गाड़ी से उतरकर पेट्रोल की कैन के साथ धरना स्थल के सामने सड़क पर उतरे और खुद पर पेट्रोल छिड़कने लगे। इसी बीच सादे कपड़ों में तैनात पुलिस कर्मियों ने उन्हें काबू कर लिया। धरना स्थल के सामने धक्का मुक्की होती देख धरनारत अध्यापक मौके पर पहुंच गए और विरोध जताने लगे। जिस पर पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए लाठियां भांजी।

जींद : बर्खास्त पीटीआई अध्यापकों के समर्थन में धमतान तपा के पूर्व प्रधान ने की आत्मदाह की कोशिश, पुलिस ने लोगों पर भांजी लाठियां
X
खुद पर पेट्रोल छिड़कते रंगीराम को काबू करते पुलिस कर्मी व लाठियां भांजते हुए पुलिस कर्मी।

हरिभूमि न्यूज : जींद

लघु सचिवालय के बाहर बर्खास्त पीटीआई अध्यापकों (PTI teachers) के समर्थन में इच्छा मृत्यु की अनुमति मांगने वाले धमतान तपा के पूर्व प्रधान रंगीराम की आत्मदाह की कोशिश (Self-immolation) के दौरान पुलिस ने बल का प्रयोग किया। पुलिस कर्मियों ने खुद पर पेट्रोल छिड़क रहे रंगीराम को काबू कर लिया। बर्खास्त धरनारत अध्यापकों ने विरोध किया तो पुलिस ने लाठियां भांजी। विरोध में अध्यापकों ने कुछ समय के लिए लघु सचिवालय-रोहतक रोड लिंक मार्ग पर जाम भी लगा दिया। बाद में समझा बुझाकर जाम को खुलवा दिया गया।

पुलिस को सूचना मिली थी कि बर्खास्त पीटीआई अध्यापकों की बहाली के समर्थन में इच्छा मृत्यु मांगने वाले धमतान तपा के पूर्व प्रधान रंगीराम आत्मदाह के लिए धरना स्थल पर पहुंच रहे है। जिसके आधार पर पुलिस ने धरना स्थल के आसपास भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया। शुक्रवार दोपहर बाद रंगीराम गाड़ी से उतरकर पेट्रोल की कैन के साथ धरना स्थल के सामने सड़क पर उतरे और खुद पर पेट्रोल छिड़कने लगे। इसी बीच सादे कपड़ों में तैनात पुलिस कर्मियों ने उन्हें काबू कर लिया। धरना स्थल के सामने धक्का मुक्की होती देख धरनारत अध्यापक मौके पर पहुंच गए और विरोध जताने लगे। जिस पर पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए लाठियां भांजी। रंगीराम को पुलिस कस्टडी में लेकर अपने साथ ले गई। जिस पर धरनारत अध्यापक लघु सचिवालय-रोहतक रोड लिंक मार्ग पर आ गए और जाम लगा दिया। इस दौरान धरनारत अध्यापकों ने पुलिस तथा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बाद में पुलिस ने समझा बुझाकर जाम को खुलवा दिया।

अध्यापक नेता कलीराम ने कहा कि बर्खास्त पीटीआई अध्यापक शांति से अपना आंदोलन चलाए हुए थे। पुलिस ने उग्र कार्रवाई करते हुए अध्यापकों पर लाठीचार्ज किया। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने जानबुझकर रंगीराम पर तेल छिड़का है। अगर पुलिस चाहती तो रंगीराम को पहले ही पकड़ सकती थी। पुलिस की यह कार्रवाई अध्यापकों के आंदोलन में घी का काम करेगी। डीएसपी कप्तान सिंह ने बताया कि रंगीराम धरना स्थल के निकट खुद पर पैट्रोल छिड़क आग लगा रहा था। इससे पूर्व पुलिस कर्मियों ने काबू कर लिया। जब रंगीराम को पकड़ कर ले जा रहे थे तो धरनारत लोगों ने उन्हें छुडवाने की कोशिश की। जिस पर हलका बल प्रयोग कर भीड़ को हटा दिया गया।

Next Story