Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा में कल से खुलेंगे स्कूल, इन निर्देशों का करना होगा पालन

9वीं से 12वीं कक्षा तक के खुलेंगे स्कूल, कक्षा छठीं से आठवीं के विद्यार्थियों की कक्षाएं 23 जुलाई से होंगी आरंभ।

bihar school reopen students will come to school with odd even roll number know bihar school corona guideline
X

हरियाणा में खुले स्कूल

हरिभूमि न्यूज : नारनौल

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के कारण प्रदेश के सभी सरकारी व प्राइवेट स्कूल 86 दिन बाद कल 16 जुलाई को खुल जाएंगे। प्रथम चरण में कक्षा नौंवी से बारहवीं तक के विद्यार्थियो को ही शिक्षा ग्रहण करने के लिए स्कूलों में बुलाया जाएगा। कक्षा छठी से आठवीं के विद्यार्थियों के लिए यह व्यवस्था 23 जुलाई से आरंभ होगी।

कक्षा पहली से पांचवीं कक्षाओं के स्कूलों के बारे में निर्णय बाद में लिया जाएगा। सर्वप्रथम उन्हीं बच्चों की स्कूल में एंट्री होगी जिनके अभिभावकों सहमति पत्र देंगे। कक्षा नौंवी से बारहवीं तक के स्कूल खोलने के लिए सरकार ने मंजूरी दी है। लेकिन कोविड गाइडलाइन को मानना होगा। इस गाइडलाइन को फॉलो नहीं करने पर स्कूल बंद कर दिया जाएगा और विभागीय कार्रवाई अमल में लाई जा सकती है। स्कूल में प्रवेश करने से पहले स्कूल प्रबंधन ने अभिभावकों को सोशल मीडिया पर गूगल फार्म भरकर बच्चों को ऑफलाइन पढ़ाने की अनुमति मांगी है। 50 फीसदी से कम अभिभावक अनुमति देंगे तो ऑफलाइन क्लास नहीं लगाई जाएगी।

जो विद्यार्थी ऑफलाइन की बजाय ऑनलाइन पढ़ाई करना चाहते हैं, वह ऑनलाइन पढ़ाई कर सकते हैं। विद्यार्थियों की उपस्थिति को लेकर कोई बाध्यता नहीं रहेगी। इस बारे विद्यार्थियों पर किसी भी प्रकार का दबाव नहीं बनाया जाएगा। सहमति पत्र देने के बाद ही वह स्कूल में प्रवेश कर सकेंगे। एंट्री द्वार पर ही हाथों से लेकर जूतों को सैनिटाइज किया जाएगा। छह फिट के अंतराल पर ही एक क्लास में विद्यार्थियों को बैठाया जा सकता है। अगर कमरे में जगह कम है तो विद्यार्थियों को हॉल, बरामदे या छायादार पेड़ के नीचे भी पढ़ाया जा सकता है।

ना रिसेस होगी ना ही टिफिन लेकर आएंगे विद्यार्थी

इन कक्षाओं में पढ़ाई का समय सुबह 8:30 बजे से दोपहर 12:30 बजे के बीच होगा। चार घंटे लगातार क्लासेज लगेगी। बीच में कोई रिसेस नहीं होगी। कारण, ब्रेक मिलने पर विद्यार्थी एक जगह एकत्रित होंगे, जिससे खतरा ज्यादा रहता है। इस कारण विद्यार्थी घर से भोजन का टिफिन ना लेकर जाए। हां, पानी की बोतल घर से ही लेकर जाएं। यहीं नहीं, अभिभावक-अध्यापक मीटिंग नहीं होगी। ना ही स्कूल में कोई खेल प्रतियोगिताएं हो सकेंगी।

Next Story