Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Diesel के थोक भाव 25 रुपये बढ़े तो रोडवेज ने बंद किए अपने पंप, निजी पंपों से डीजल भरवा रही हैं बसें

हरियाणा रोडवेज के महानिदेशक ने सभी डिपो को पत्र लिखकर रोडवेज की बसों में डीजल बाजार में चल रहे पेट्रोल पम्पों से सस्ती दरों पर डलवाने बारे निर्देश दिए ताकि रोडवेज घाटे में न जाए।

Diesel के थोक भाव 25 रुपये बढ़े तो रोडवेज ने बंद किए अपने पंप,  निजी पंपों से डीजल भरवा रही हैं बसें
X

 फतेहाबाद : बस स्टैंड डिपो में बंद पड़ा विभाग का पंप। 

सुरेन्द्र असीजा : फतेहाबाद

इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (Indian Oil Corporation) द्वारा डीजल के थोक भाव में 25 रुपये प्रति लीटर वृद्धि करने के कारण हरियाणा रोडवेज फतेहाबाद डिपो के अंदर स्थित पेट्रोल पंप बंद हो गया है। अब रोडवेज की बसें फतेहाबाद के दो निजी पेट्रोल पंपों से डीजल भरवा रही है। इन बसों को यहां 22 से 25 रुपये प्रति लीटर डीजल सस्ता मिल रहा है। फतेहाबाद की 115 बसों में 6 हजार लीटर व टोहाना सब डिपो की 43 बसों में 3 हजार लीटर डीजल प्रतिदिन भरवाया जाता है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 24 मार्च को इंडियन आयल कारपोरेशन ने डीजल के थोक भाव में 25 रुपये प्रति लीटर वृद्धि की घोषणा की थी। 25 मार्च को 18 हजार लीटर का टैंक आया तो इसकी दर 110.34 रुपये प्रति लीटर की दर से निर्धारित थी जबकि उसी दिन यह दर 88.11 रुपये प्रति लीटर मिल रही थी। ऐसे में हरियाणा रोडवेज के महानिदेशक ने सभी डिपो को पत्र लिखकर रोडवेज की बसों में डीजल बाजार में चल रहे पेट्रोल पम्पों से सस्ती दरों पर डलवाने बारे निर्देश दिए ताकि रोडवेज घाटे में न जाए। 25 मार्च से ही फतेहाबाद में रोडवेज विभाग द्वारा सिरसा रोड स्थित इंदौरा पेट्रोल पंप व हिसार रोड पर कुलड़िया पेट्रोल पम्प के साथ एग्रीमेंट कर लिया। इस मामले में देखरेख के लिए डिपो ने 5 सदस्यीय कमेटी का भी गठन किया। यह कमेटी 15 दिन के लिए पेट्रोल पंपों पर डीजल व दरों की समीक्षा कर अपनी रिपोर्ट देगी। फिलहाल रोडवेज डिपू ने 10 अप्रैल तक पेट्रोल पंपों से एग्रीमेंट किया है। इसके बाद समीक्षा के आधार पर आगामी फैसला लिया जाएगा।

फतेहाबाद में इस समय प्रतिदिन 6 हजार लीटर डीजल की लागत है जबकि टोहाना सब डिपो पर 3 हजार डीजल प्रतिदिन खपत होता है। बसों में डीजल बाहर से भरवाने के कारण फतेहाबाद बस स्टैण्ड में स्थित पम्प अब बंद पड़ा है। रोडवेज पम्प के कार्यवाहक इंचार्ज रामस्वरूप के अनुसार अगर रोडवेज के पम्प से ही डीजल डलवाया जाता तो डिपो को प्रतिदिन 2 लाख रुपये का नुकसान झेलना पड़ता।

मालूम हो कि केन्द्र सरकार के तहत पिछले दिनों तेल कम्पनियों ने डीजल के थोक दामों में 25 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की थी। हरियाणा रोडवेज के पंपों में भी डीजल की आपूर्ति होती है जबकि बाजार में स्थित पंपों पर रोडवेज की अपेक्षा काफी कम सप्लाई होती थी।

रोडवेज डिपो द्वारा गठित कमेटी में जीएम, वर्कशॉप मैनेजर, टीएम, एसपीओ, एसपीए, एओ व आरओ स्तर के अधिकारी शामिल किए गए हैं, जिन्होंने शहर में सबसे नजदीक स्थित पेट्रोल पम्पों से निविदाएं मांगी थी। इनमें हिसार रोड स्थित कुलड़िया कृषि केन्द्र व सिरसा रोड स्थित इंदौरा फिलिंग स्टेशन की दरें सबसे कम थी। अब रोडवेज की बसें यही से डीजल भरवा रही हैं। रोडवेज डिपो के प्रभारी ने बताया कि निर्धारित दामों के अलावा भी इन पंपों से डिस्काउंट लिया जाएगा ताकि रोडवेज को फायदा हो सके।

हरियाणा रोडवेज के महानिदेशक के पत्र के बाद रोडवेज में स्थित पंप पर डीजल नहीं मंगवाया जा रहा है। रोडवेज की बसें बाहर के पम्पों से डीजल भरा रही है, जोकि डिपो के लिए फायदेमंद है। अभी यह फैसला 15 दिन के लिए लिया गया है। इसके बाद उच्चाधिकारियों के आदेशानुसार फैसला लिया जाएगा। - शेर सिंह, जीएम हरियाणा रोडवेज फतेहाबाद


फतेहाबाद : हिसार रोड स्थित पेट्रोल पंप से डीजल भरवाती रोडवेज बस।

और पढ़ें
Next Story